भोपाल| मध्य प्रदेश में जहाँ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह कोरोना के खिलाफ अकेले मोर्चे पर डटे हैं और कोरोना से बचाव का हर सम्भव प्रयास कर रहे हैं। वहीं प्रदेश के कुछ आई ए एस अधिकारी कोरोना काल में नए नए प्रयोग कर रहे हैं। मध्यप्रदेश राज्य नागरिक आपूर्ति निगम लिमिटेड के प्रबन्ध संचालक इस काल में अपने कर्मचारियों को घर से काम करने के साथ साथ कंप्यूटर पर काम करना सीखने की हिदायत दे रहे हैं।
साहब अचानक इतने सख्त हो गए हैं कि उन्होंने कंप्यूटर पर काम न करने वाले कर्मचारियों की तनख्वाह काटने का आदेश जारी कर दिया है। आदेश में साफ कहा गया है जो कर्मचारी ई फ़ाइल के जरिये काम करेंगे उन्हें वेतन दिया जाएगा। जो नही करेंगे उनका वेतन काट लिया जाएगा। उन्हें वेतन तब ही मिलेगा जब वे दफ्तर आकर यह दिखाएंगे कि कोरोना के दौरान घर में रहकर क्या काम किया।
एम डी साहब के इस आदेश से निगम के कर्मचारी परेशान हैं। एक ओर अदृश्य कोरोना उन्हें सता रहा है तो दूसरी तरफ साहब के आदेश ने उनकी जान सांसत में डाल रखी है।उन्हें समझ ही नही आ रहा कि क्या करें। जहाँ तक साहब का सवाल है वह कमाल के हैं।एक आदिवासी जिले में कलेक्टरी करते हुये काफी चर्चा में रहे थे।अब यहाँ भी चर्चा में हैं।

कोरोना काल में नए-नए प्रयोग कर रहे हैं मध्यप्रदेश के अफसर