MP Politics:चर्चाओं में अजय विश्नोई का Tweet, कांग्रेस बोली-आख़िर वहाँ ऐसा क्या है?

भोपाल।इन दिनों बीजेपी के अंदरखानों में कुछ ठीक नही चल रहा है। एक तरफ वरिष्ठ लामबंद हो रहे है वही दूसरी  शिवराज मंत्रिमंडल विस्तार के बाद से नाराज चल रहे ग्रामीण विधानसभा पाटन से भाजपा के दिग्गज विधायक व पूर्व मंत्री अजय विश्नोई (Former Minister And BJP MLA Ajay Vishnoi) फिर सुर्खियों में है। विश्नोई ने एक बार फिर ट्वीट कर शिवराज सरकार को घेरा है। हालांकि इस बार संगठन और पार्टी नेताओं का नही बल्कि मेडिकल कॉलेज मुद्दा बना है।इधर विश्नोई के ट्वीट पर कांग्रेस ने भी सवाल उठाया है और पूछा है कि आखिर वहां ऐसा क्या है..? भाजपा विधायक द्वारा अपनी ही सरकार को एक बार फिर घेरने पर सियासत गर्मा गई है, वही भाजपा मे हड़कंप मच गया है।

विश्नोई ने ट्वीट कर लिखा है कि मुख्यमंत्री शिवराज जी चिरायु अस्पताल में स्वास्थ्य लाभ कर रहे हैं। मेरी शुभकामना है, शीघ्र स्वस्थ होकर वापस लौटे। साथ ही माननीय मुख्यमंत्री जी से अनुरोध है,चिरायु अस्पताल में रहते हुए यह भी देखें कि चिरायु में ऐसा क्या है जो हम नो लिमिट बजट और सतत मॉनिटरिंग के बाद भी प्रदेश के एक भी शासकीय मेडिकल कॉलेज 4 माह में नहीं बना पाए। क्यों प्रदेश के सभी वीआईपी चिरायु की शरण में जाने मजबूर है।

कांग्रेस ने ली चुटकी
कांग्रेस के मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा ने ट्वीट कर लिखा है कि पूर्व मंत्री अजय विश्नोई ने ठीक सवाल उठाया है।क्या कारण है कि सीएम सहित सारे वीआईपी चिरायु में इलाज करवा रहे है,आख़िर वहाँ ऐसा क्या है? क्या कारण है कि 15 वर्ष की भाजपा सरकार में एक भी ऐसा शासकीय अस्पताल नहीं बना,कोरोना से इलाज के लिये एक भी शासकीय मेडिकल अस्पताल तैयार नहीं हुआ?

बता दे कि यह पहला मौका नही है जब विश्नोई का ने सरकार को घेरा हो। इसके पहले भी विश्नोई ट्वीट कर मंत्रिमंडल विस्तार विभागों के बंटवारे को लेकर सवाल खड़े कर चुके है।इससे पहले अजय विश्नोई ने विधायकों की कांग्रेस छोडने और बीजेपी में शामिल होते ही कैबिनेट मंत्री का दर्जा मिलने पर ट्वीट कर लिखा था कि इस हाथ दे-उस हाथ ले, का शानदार उदाहरण प्रस्तुत हुआ है, म.प्र. की वर्तमान राजनीति में। आज जब सरकार ना तो बनाना थी और न गिराना। फिर यह क्यों किया गया? आप भाजपा को कहां ले जाना चाहते हैं? जनता को बताए ना बताए भाजपा को यह बताना होगा। या फिर हमें संस्कारों का उल्टा पाठ पढ़ाना होगा। वही विभागों के बंटवारे में हो रही देरी को लेकर पार्टी पर तंज कसा था। विश्नोई ने कहा था कि पहले मंत्रियों की संख्या और अब विभागों का बंटवारा। मुझे डर है कही भाजपा का आम कार्यकर्ता हमारे नेता की इतनी बेइज्जती से नाराज न हो जाय। नुकसान हो जाएगा।अब इस ट्वीट ने सियासत गर्मा दी है।