MP Politics: सुमित्रा देवी के इस्तीफे पर ऐसा रहा सिंधिया का रिएक्शन

भोपाल।

मध्यप्रदेश (MadhyPradesh) की राजनीति में विधायकों द्वारा दल बदलने का सिलसिला तेजी से जारी है। शुक्रवार को उपचुनाव (BY Election) से पहले कांग्रेस को एक और बड़ा झटका लगा।लोधी के बाद बुरहानपुर की नेपानगर विधानसभा सीट (Nepanagar Assembly seat in Burhanpur) से कांग्रेस की विधायक रही सुमित्रा कास्डेकर (sumitra-kasdekar) ने भी इस्तीफा दे दिया है औऱ बीजेपी में शामिल हो गई। एक सप्ताह में दूसरी बार घटे इस घटनाक्रम पर सियासी गलियारों में हलचल मची हुई है कांग्रेस (Congress) ने जहां इस पूरे घटनाक्रम को लोकतंत्र की हत्या और खरीद फरोख्त बताया वही बीजेपी (BJP) ने इसे कांग्रेस के अंदर टूटन करार दिया। इसी कड़ी में राज्यसभा सांसद और बीजेपी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया (Rajya Sabha MP Jyotiraditya Scindia) का बयान सामने आया है।

दरअसल, सिंधिया ने सुमित्रा देवी के इस निर्णय को सही बताया है।सिंधिया ने ट्वीटर के माध्यम से सुमित्रा देवी को बधाई दी है। सिंधिया ने ट्वीट कर लिखा है कि मध्य प्रदेश के नेपानगर विधानसभा सीट से कांग्रेस विधायक श्रीमती सुमित्रा कास्डेकर जी के कांग्रेस छोड़कर भाजपा परिवार में शामिल होने पर उनका स्वागत करता हूँ।एक और विधायक द्वारा प्रदेश हित मे लिया गया सही निर्णय।वही एमपी बीजेपी ने ट्वीट कर लिखा है कि अच्छा हुआ कि @OfficeOfKNath सरकार जल्दी विदा हो गई। जिनसे अपना घर ही नहीं सम्भल पा रहा, वो न जाने प्रदेश का क्या हाल करते ? फ़िरसे तय था बंटाधार !

कांग्रेस डूबता जहाज-शिवराज
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने भी विधायक के इस्तीफे के बाद कांग्रेस पर निशाना साधा ।शिवराज ने कहा कि कांग्रेस को सोचना चाहिए, क्यों उनके विधायक कांग्रेस का साथ छोड़ रहे हैं,कांग्रेस डूबता हुआ जहाज है, उनके नेताओं का कांग्रेस पर विश्वास नहीं रहा है, कांग्रेस में भगदड़ मची है।

बता दे कि शुक्रवार को बुरहानपुर के नेपानगर विधानसभा से कांग्रेस विधायक सुमित्रा देवी कासडेकर (Congress MLA from Nepanagar Assembly Sumitra Devi) ने इस्तीफा दे दिया है और बीजेपी में शामिल हो गई। इससे पहले छतरपुर की बड़ामलहरा विधानसभा सीट से विधायक रहे प्रदुम्नन सिंह लोधी ने इस्तीफा दे दिया था और बीजेपी ज्वाइन कर ली थी। इसके बाद बीजेपी ने भी लोधी को तोहफा के रुप में कैबिनेट मंत्री का दर्जा देते हुए नागरिक आपूर्ति निगम का अध्यक्ष नियुक्त किया गया था। इसी के साथ अब 26 विधानसभा सीटें खाली हो गई है, जिन पर उपचुनाव होना है। सूत्रों के अनुसार ऐसी भी संभावनाएं जताई जा रही है कि निमाड़ अंचल से दो और विधायक फिलहाल भाजपा के संपर्क में है और जल्दी ही इस्तीफा दे सकते हैं।