मानवता की मिसाल बने सांसद वीडी शर्मा, हादसे के बाद खुद कंधा देकर मृतकों के पार्थिव शरीर घर पहुंचाए

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। उत्तराखंड बस हादसा ऐसा दर्दनाक हादसा बन गया, जिसके जख्म अब शायद ही कभी भर पाए, चार धाम की यात्रा पर जाने वाले इन बुजुर्गों ने कभी सपने में नहीं सोचा होगा कि यह इनके जीवन की आखरी यात्रा होगी, परिजनों और गांवों वालों ने ढोल धमाकों के साथ खुशी-खुशी इन्हे इस यात्रा के लिए घर से विदा किया था लेकिन उन्होंने भी नहीं सोचा था कि यह सफर इनकी जिंदगी का आखरी सफर बन जाएगा, रविवार को हुए बस हादसे में जिंदगी हार गए पन्ना के 25 श्रद्धालुओं के शव देर रात पहले खजुराहो और फिर पन्ना उनके गृहग्राम पहुंचे,  इस पूरे हादसे के बाद एक ऐसा चेहरा भी था, जिसने ऐसी भूमिका निभाई की जो पीड़ित परिजनों के लिए अपनों से भी ज्यादा खास बन गया, यह शख्स दुख की इस घड़ी में उनके साथ न सिर्फ खड़ा रहा बल्कि देहरादून से शवों को लेकर उनके गृहग्राम पहुंचा और दुखी परिजनों को गले लगाकर कहा- फिक्र न करना मै हूँ न।

यह भी पढ़ें… वायुसेना के विमान से मृतकों के पार्थिव शरीर लेकर वीडी शर्मा देहरादून से खजुराहो के लिए रवाना

यह शख्स कोई और नहीं बल्कि खजुराहो सांसद वीडी शर्मा है, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने रविवार को जैसे ही इस हादसे के बारे में सुना वह दर्द से भर उठे, उन्होंने घटना को कन्फर्म करने के बाद अपने साथियों को फौरन इस काम में लगा दिया की पता करें किन परिवारों से श्रद्धालु इस यात्रा में गए थे और फिर इस दर्दनाक हादसे का शिकार बन गए जैसे ही परिजनों के नाम सामने आए सांसद वीडी शर्मा ने खुद फोन पर हर एक परिजन से बात की और उन्हे सांत्वना दी, इसके बाद वीडी शर्मा ने तय किया कि वह देहरादून जायेगे और घटना में अपनी जान गवां चुके श्रद्धालुओं के पार्थिव शरीर खुद लेकर आएगे, सोमवार सुबह वीडी शर्मा देहरादून उस वक़्त पहुंचे, जब शवों का पोस्टमार्टम चल रहा था, वीडी शर्मा ने खुद उस जगह पर मौजूद रहकर अधिकारियों से बातचीत की और शवों को देहरादून से खजुराहो और फिर पन्ना लाने पर चर्चा की, इसके बाद करीबन 7 से 8 घंटे तक शवों के पोस्टमार्टम से लेकर उन्हे वायुसेना के विमान में रखने तक वीडी मौके पर ही मौजूद रहे, पोस्टमार्टम के बाद वीडी शर्मा ने इन शवों को कंधा देकर विमान में रखा और खुद भी उस विमान में सवार होकर शवों को लेकर खजुराहो पहुंचे, इसके बाद खजुराहो से यह शव सड़क मार्ग से पन्ना के अलग-अलग चार गांवों में लाए गए, इस दौरान भी सांसद वीडी शर्मा मौजूद रहे और उन्होंने चारों गांवों में मौजूद मृतकों के परिजनों से लगातार मोबाईल पर संपर्क रखा, लगातार वह परिजनों को हिम्मत देते रहे कई बार खुद वह भी भावुक हो गए, रोते परिजनों को  बार बार यही कहते नजर आए कि फिक्र न करना मैं हूँ न। सही मायने में वीडी शर्मा ने जनप्रतिनिधि होने का फर्ज निभाया। फिलहाल वीडी शर्मा पन्ना में ही मौजूद है मंगलवार को मृतकों का अंतिम संस्कार होगा, जिसमें वह शामिल होंगे।