MP Weather Update : 3 संभागों और 8 जिलों में 7 जनवरी तक बारिश की चेतावनी, जबलपुर सहित इन क्षेत्रों में सीवियर कोल्ड डे, घने कोहरे का रेड अलर्ट, जानें इंदौर-ग्वालियर पर पूर्वानुमान

गुरुवार को नर्मदा पुरम, जबलपुर, इंदौर संभाग में बारिश देखने को मिल सकती है। इसके अलावा महाराष्ट्र की सीमा से लगे जिलों में भी मध्यम बारिश की संभावना जताई गई है। पूर्वी मध्य प्रदेश में कोहरे और धुंध की तीव्रता देखने को मिलेगी।

MP Weather Update, MP Weather : मध्य प्रदेश के कई जिलों में एक तरफ जहां आज बारिश की संभावना जताई गई ।है वहीं कुछ क्षेत्रों में कोहरे को लेकर येलो अलर्ट जारी कर दिया गया है। सर्द हवाओं की गतिविधि जारी है। इसके कारण 15 जिलों में तापमान 5 डिग्री सेल्सियस के नीचे पहुंच गया है जबकि सर्द हवाओं के कारण कई जिलों में स्कूल के समय में परिवर्तन किया गया है। वही स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा कलेक्टर को निर्देश दिए गए हैं कि ऐसे जिले जहां 5 दिनों से कम तापमान है, वहां स्कूलों में छुट्टियां घोषित कर दी जाए। मध्यप्रदेश में ग्वालियर को सबसे ठंडा रिकॉर्ड किया गया है। 3 दिन तक सुबह और शाम घने कोहरे जाने के आसार जताए गए हैं। जबकि छिंदवाड़ा और बालाघाट में आज मावठा गिरने का भी अलर्ट जारी किया गया है। चार शहरों में सीवियर कोल्ड की चेतावनी जारी की गई है।

छह जिलों में मावठा गिरने का अलर्ट जारी

मध्य प्रदेश में कड़ाके की ठंड का दौर शुरू हो गया। पांचवें दिन भी ठंड का सितम जारी रहा। भोपाल सहित कई शहरों में कोल्डप्ले का अलर्ट जारी करते हुए रेड अलर्ट जारी किया गया है। इसके साथ ही अगले दो दिनों तक छह जिलों में मावठा गिरने का अलर्ट जारी किया गया है। साथ ही भोपाल, उज्जैन, जबलपुर, ग्वालियर, इंदौर आदि क्षेत्रों में बादल छाए हुए हैं। इन क्षेत्रों में भी बारिश का पूर्वानुमान जताया गया है। 8 जनवरी तक इन क्षेत्रों में बारिश की चेतावनी जारी कर दी गई है। बर्फीली ठंडी हवा के कारण सर्दी और सीवियर कोल्ड स्थिति निर्मित हो गई है। मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो कोहरे से पानी की बूंदे जमने लगी है। पेड़ पौधे और वाहनों सहित घास पर तेज हवा असर कर रही है।

कोल्ड डे का अलर्ट जारी

प्रदेश के कई क्षेत्रों में 15 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से सर्द हवा चल रही है। अधिकतर जिलों में सर्दी जोर पकड़ने लगी है। मंडल, बैतूल जबलपुर में शीतल दिन रिकॉर्ड किया गया है। इसके अलावा भोपाल, गुना, ग्वालियर, इंदौर, शिवपुरी, उज्जैन, नरसिंहपुर, सागर, उमरिया में भी कोल्ड डे का अलर्ट जारी कर दिया गया है।

मौसम प्रणाली

मौसम प्रणाली की बात करें तो 7 जनवरी को एक नया सिस्टम सक्रिय हो रहा है। पश्चिमी हवाएं ईरान और इराक से पाकिस्तान के रास्ते भारत के उत्तरी इलाके में प्रवेश करेगी। नमी भरी ठंडी हवाएं मैदानी इलाके में पहुंचने के कारण तापमान में इजाफा होगा। जिसके कारण मध्य प्रदेश में ठंड से थोड़ी राहत मिलेगी।

मौसमी गतिविधि 

मौसम विज्ञान विभाग भोपाल की माने तो गुरुवार को नर्मदा पुरम, जबलपुर, इंदौर संभाग में बारिश देखने को मिल सकती है। इसके अलावा महाराष्ट्र की सीमा से लगे जिलों में भी मध्यम बारिश की संभावना जताई गई है। पूर्वी मध्य प्रदेश में कोहरे और धुंध की तीव्रता देखने को मिलेगी। शाम ढलते ही सर्द तेज हवाओं से लोगों को सिहरन महसूस होगी। मध्यप्रदेश में सबसे कम तापमान 4.5 डिग्री सेल्सियस ग्वालियर का रिकॉर्ड किया गया है।

इन क्षेत्रों में बारिश की चेतावनी

मौसम वैज्ञानिकों की माने तो दक्षिण पूर्व उत्तर प्रदेश से लेकर 12 किलोमीटर ऊंचाई एक ट्रफ रेखा निर्मित हुई है। जिसके कारण महाराष्ट्र से लगी सीमाओं पर आज बारिश देखने को मिलेगी। सिवनी, बालाघाट, बैतूल, हरदा आदि में बारिश की संभावना जताई गई है। इसके अलावा रीवा सागर भोपाल, नर्मदा पुरम, जबलपुर, उज्जैन संभाग में घना कोहरा छाए रहने के आसार जताए गए हैं जबकि नर्मदा पुरम, जबलपुर, इंदौर संभाग में भी बारिश की संभावना जताई गई है।

इन क्षेत्रों में कोल्ड डे की चेतावनी

मौसम विभाग द्वारा भोपाल, उज्जैन, रतलाम, छिंदवाड़ा, छतरपुर, नरसिंहपुर, उमरिया, सिवनी, सागर, रीवा, गुना, रतलाम आज कोल्ड डे और शीतल दिन की चेतावनी जारी की गई है।

अति शीतल दिन को लेकर अलर्ट

मध्य प्रदेश के बैतूल, जबलपुर और धार में सीवियर कोल्ड डे का अलर्ट जारी कर दिया गया है। लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी गई है। खंडवा, जबलपुर, मंडला, नीमच, बालाघाट, नरसिंहपुर, शिवपुरी में घने कोहरे का पूर्वानुमान जताया गया है।

इन क्षेत्रों में लुढ़का तापमान

पिछले 24 घंटे के दौरान प्रदेश के सभी संभागों में मौसम शुष्क बना रहा है। सर्द हवा के कारण तापमान में भारी गिरावट देखी गई। शहडोल और रीवा संभाग में तापमान सामान्य से अधिक रिकॉर्ड किया गया है। हालांकि भोपाल, उज्जैन,  ग्वालियर संभाग में सामान्य से काफी कम तापमान रिकॉर्ड किया गया है। मौसम के फिलहाल 8 दिसंबर तक इसी तरह बने रहने की संभावना जताई गई है। 8 दिसंबर को पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत में पहुंचने की संभावना के साथ ही कुछ क्षेत्रों में तापमान में वृद्धि देखी जाएगी। इसके साथ ही आसमान साफ होते ही सूर्य की किरण से लोगों को राहत मिलेगी।