MP Weather Update : मप्र के इन जिलों में आज भारी बारिश की चेतावनी, Yellow Alert

Pre-monsoon-activity-fast-in-madhya-pradesh-may-be-rain-in-these-district-

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। सितंबर का आधा महिना बीत चुका है, बावजूद इसके एमपी समेत कई राज्यों में मानसून की मेहरबानी जारी है। एक साथ तीन सिस्टमों के एक्टिव होने का असर पूरे प्रदेश में दिखाई दे रहा है। मौसम विभाग की माने तो सोमवार-मंगलवार को प्रदेश के पूर्वी और पश्चिमी क्षेत्र में अच्छी बारिश होने की संभावना है। पिछले चौबीस घंटे में कई जिलों में झमाझम बारिश हुई है और मौसम विभाग (Weather Department) ने आज सोमवार को भी येलो अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों के लिए आधा दर्जन जिलों में भारी बारिश का अलर्ट (Heavy rain alert) जारी कर करीब 10 संभागों के जिलों में कही कही गरज-चमक के साथ बिजली चमकने/गिरने की आशंका जताई है। वही तेज हवाओं के चलने की भी संभावना है।

मौसम विभाग की माने तो14 और 15 सितंबर को महाराष्ट्र तथा पश्चिमी मध्य प्रदेश में भारी बारिश हो सकती है। इस सिस्टम का प्रभाव उत्तरी मध्य प्रदेश और दिल्ली में 16 से 18 सितंबर के भी प्रभाव हो सकता है। 13 से 18 सितंबर के बीच मध्य भारत के राज्यों पर इसका प्रभाव रहेगा। मध्य भारत के महाराष्ट्र के मराठवाड़ा, मध्य महाराष्ट्र, कोंकण गोवा, मध्य प्रदेश, गुजरात और पूर्वी राजस्थान तक यह मॉनसून को सक्रिय करेगा।यही कारण है कि मानसून की विदाई में देरी से हो रही है। इससे जुलाई माह में बारिश कम होने लगी है। अगस्त में मानसून अधिक सक्रिय होने लगा है। इस वजह से भी बरसात का गणित गड़बड़ाने लगा है।

इन जिलों में भारी बारिश की चेतावनी
इंदौर, धार, बुरहानपुर, खंडवा, खरगोन, बैतूल, हरदा

इन 10 संभागों के जिलों गरज-चमक के साथ बारिश और बिजली

मौसम विभाग ने भोपाल, होशंगाबाद, इंदौर, उज्जैन, शहडोल, जबलपुर, सागर, रीवा, ग्वालियर-चंबल संभागों के जिलो में गरज चमक के साथ बारिश की संभावना है।वही रीवा, रतलाम, सतना, इंदौर, शाजापुर, उज्जैन, देवास, नीमच, मंदसौर, गुना, अशोकनगर में बारिश के आसार है। मौसम विभाग ने इसके लिए यलो अलर्ट जारी किया है।

अबतक अतिवृष्टि और बाढ़ से 9 हजार 500 करोड़ हानि
सितंबर के पहले सप्ताह में प्रदेश में भारी बारिश हुई थी, जिसकी वजह से सीहोर, रायसेन होशंगाबाद जैसे जिलों में बाढ़ आ गई थी। बढ़ते जलस्तर की वजह से नर्मदा डैम को भी खोल दिया गया था।सरकारी आंकडों के अनुसार, प्रदेश में अतिवृष्टि और बाढ़ के कारण प्रारंभिक आकलन के अनुसार लगभग 9 हजार 500 करोड़ की हानि हुई है। प्रदेश में फसलें, मकान, पशु हानि के साथ-साथ सड़कों तथा अधोसंरचना को हुई क्षति के कारण व्यवस्थाएं प्रभावित हुईं। इस स्थिति में लोगों को अपने घरों से रेस्क्यू कर राहत शिविरों में पहुंचाया गया। सर्वे कार्य निरंतर जारी है और अधिक नुकसान की स्थिति भी सामने आ सकती है। राज्य सरकार ने प्रभावित लोगों को अधिकाधिक सहायता दी है। आगे भी राहत पहुँचाने में की बात कही गई है।

Rainfall dt 14.09.2020
(Past 24 hours)
Dhar 57.8
Betul 5.0
Bhopal 4.9
Raisen 2.0
Indore 44.7
Khandwa 8.0
Khargone 2.4
Shajapur 2.0
Ratlam 22.0
Ujjain 5.6
Satna 5.3
Chindwara 3.8
Bhopal city 41.0 mm

MP Breaking News MP Breaking NewsMP Breaking News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here