MP Weather Update : वापसी की ओर मानसून, मप्र के इन जिलों में बारिश के आसार

मानसून विदा होने के संकेत मिल रहे है। 28 सितंबर से दक्षिण-पश्चिम मानसून की पश्चिमी राजस्थान से और अक्टूबर के पहले सप्ताह में मध्यप्रदेश के कई जिलों से मानसून विदा हो सकता है।

weather

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  मानसून की वापसी और सुबह के समय ठंडी हवाओं से ठंड के आगामन के संकेत मिल रहे है। 28 सितंबर से दक्षिण-पश्चिम मानसून (weather forecast) की पश्चिमी राजस्थान से और अक्टूबर के पहले सप्ताह में मध्यप्रदेश के कई जिलों से मानसून विदा की संभावना है। अक्टूबर के पहले सप्ताह में धीरे-धीरे पूरे प्रदेश में मानसून कमजोर होता जाएगा, हालांकि वाातवरण में नमी के कारण उमस और कड़ी धूप के बीच कही कही छिटपुट बारिश हो सकती है।  मौसम विभाग आज सोमवार को प्रदेश कई जिलों बारिश की संभावना जताई है। मौसम विभाग ने 6 संभागों और पांच जिलों में गरज चमक के साथ बारिश की संभावना जताई है।

मौसम विभाग (Weather Department) की माने तो 28 सितंबर से दक्षिण-पश्चिम मानसून की पश्चिमी राजस्थान से और अक्टूबर के पहले सप्ताह में मप्र के कुछ जिलों से मानसून विदा हो सकता है। प्रदेश में इस सप्ताह कहीं-कहीं बौछारें पड़ सकती हैं। अक्टूबर के पहले सप्ताह में राजस्थान से लगे मप्र के जिलों से भी मानसून विदा होने लगेगा। अब मध्य प्रदेश में वर्षा में भारी कमी आने के साथ-साथ तापमान में हल्की वृद्धि हो सकती है। दक्षिण पश्चिमी जिलों में हल्की वर्षा जारी रह सकती है लेकिन भारी से अति भारी वर्षा की संभावना बहुत कम है।27 सितंबर से 30 सितंबर के बीच धार, बड़वानी, खरगोन, खंडवा, बुरहानपुर, देवास तथा इंदौर आदि जिलों में छिटपुट वर्षा की गतिविधियां जारी रह सकती हैं। बाकी अधिकांश जिले लगभग एक ही बने रहने की संभावना है।

इन जिलों में बारिश के आसार

विभाग की माने तो शहडोल, सागर , जबलपुर, भोपाल, इंदौर, होशंगबाद संभागों के जिलों, आगर, शाजपुर, रतलाम, उज्जैन, देवास जिलों में गरज चमक के साथ बारिश के आसार है। शुक्रवार सुबह तक प्रदेश में सामान्य से छह फीसद अधिक बारिश हो चुकी है। 16 जिलों में सामान्य से अधिक वर्षा हुई है। छह जिलों में सामान्य से काफी कम बारिश हुई है। शेष जिलों में सामान्य बरसात हुई है।

क्या कहता है भारतीय मौसम विभाग

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अनुसार, दक्षिण पश्चिम मानसून सोमवार से पश्चिमी राजस्थान से हटना शुरू हो जाएगा। उत्तर-पश्चिम भारत का अधिकांश भाग शुष्क मौसम वाला दिखाई देगा। उत्तर पश्चिम भारत से मानसून वापसी की शुरुआत की सामान्य तिथि 17 सितंबर है और देश से पूरी तरह से वापसी की तारीख 15 अक्टूबर है। पिछले साल तक, वापसी की शुरुआत के लिए सामान्य तारीख 1 सितंबर और 15 अक्टूबर को पूरी तरह से वापसी की तारीख निर्धारित किया था।

Rainfall dt 28.09.2020
(Past 24 hours)
Chindwara 25.4
Seoni 9.2
Malanjkhand 3.0
Hoshangabad 2.8
Sagar 2.6
Damoh 4.0
mm

MP Weather Update : वापसी की ओर मानसून, मप्र के इन जिलों में बारिश के आसार