MP में फिर बढ़ेगी ठंड़, 17 जगहों पर पारा पहुंचा 10 से नीचे, फसलों पर पाला पड़ने के आसार

Weather

भोपाल।

उत्तर में लगातार हो रही बर्फबारी से एमपी में फिर शीतलहर चलने लगी है।बीते दो दिनों से तापमान में गिरावट देखी जा रही है।मौसम विभाग की माने तो अभी 3-4 दिन तक तापमान में गिरावट का सिलसिला जारी रहेगा। शुक्रवार को दो डिग्री तक की गिरावट होने का अनुमान है, जो कि अगले दो दिनों तक जारी रहेगा। शनिवार से तापमान में वृद्धि होने की संभावना है। हालांकि इस दौरान मौसम साफ रहेगा।

मौसम विभाग के मुताबिक हिमाचल और उत्तराखंड में हुयी बर्फबारी और सर्द हवाओं के चलते गुरुलार को कुछ स्थानों पर शीतल दिन रहने के कारण रात का पारा काफी गिर गया। 17 स्थानों पर तापमान 10 डिग्री से कम रिकार्ड किया गया। गुरुवार को प्रदेश में सबसे कम न्यूनतम तापमान 6 डिग्री बैतूल में दर्ज किया गया।भोपाल, खजुराहो और ग्वालियर में सुबह के वक्त कोहरा भी छाया रहा। आगामी अगले दो तीन दिनों में तापमान में और गिरावट होने का अनुमान है।

विभाग की माने तो अभी 3-4 दिन तक मौसम का मिजाज इसी तरह बना रहने की संभावना है। इस दौरान रात में ठंड के तेवर और तीखे हो सकते हैं। 4-5 फरवरी को एक पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत में दस्तक देने के आसार हैं। उसके प्रभाव से हवा का रुख बदलने से तापमान में कुछ बढ़ोतरी होने लगेगी।

फसलों पर पाले की संभावना
खासबात यह है कि रात का तापमान कम रहता है और दिन का तापमान बढ़ जाता है। ऐसे में अंचल में फसलों में पाला लगने व ओलावृष्टि की आशंका बढ़ गई है। किसी रात में यदि तापमान बहुत कम हो जाता है तो फसलें खराब हो जाती है। यानी शाम को फसलें अच्छी दिखती हैं और सुबह मुरझाई हुई नजर आती हैं। पाला एक खेत में नहीं, बल्कि पूरे खेत या पूरे क्षेत्र में पड़ता है।विशेषज्ञों के मुताबिक किसानों को अपने खेतों में नमी लाने के लिए फसलों की हल्की सिंचाई कर देनी चाहिए। यदि खेतों में नमी होगी तो पाले का असर फसलों पर नहीं होगा। साथ ही खेतों के आसपास रात में धुआं कर दें, जिससे पाले का असर फसलों पर नहीं होगा।