MP Weather : 15 जिलों में बिजली गिरने की चेतावनी, 50 KM प्रति घंटा की रफ़्तार से चल सकती हैं हवाएं, IMD ने जारी किया ऑरेंज अलर्ट

mp weather

MP Weather : मध्य प्रदेश में मौसम में बदलाव दिखाई दे रहा हैं, पश्चिमी हिमालय की तरफ पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने की सम्भावना के चलते प्रदेश के अधिकांश जिलों के मौसम में परिवर्तन दिखाई दे रहा हैं, मप्र मौसम विभाग ने प्रदेश के 3 संभागों के जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट और 7 संभागों के लिए येलो अलर्ट जारी किया है।

ऐसा रहा पिछले 24 घंटों का हाल

मप्र मौसम विभाग के भोपाल मौसम केंद्र ने आज दैनिक मौसम का विवरण यानि डेली वेदर रिपोर्ट जारी की है, रिपोर्ट में पिछले 24 घंटों की जानकारी देते हुए बताया गया है कि जबलपुर और शहडोल संभागों में कहीं कहीं वर्षा दर्ज की गई, शेष संभाग के जिलों में मौसम शुष्क रहा। अधिकतम तापमान सबसे ज्यादा 38.6 डिग्री सेल्सियस दमोह में दर्ज किया गया वहीं न्यूनतम तापमान सबसे कम 15 डिग्री सेल्सियस नरसिंहपुर में दर्ज किया गया है।

इन संभागों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी

मौसम विभाग ने ग्वालियर चंबल और उज्जैन सभागों के जिलों में गरज के साथ बौछारें गिरने, वज्रपात होने यानि बिजली कड़कने और गिरने की सम्भावना जताई है साथ ही 40 से 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से तेज हवाएं चलने की भी सम्भावना जताई है , मौसम विभाग ने इन संभागों के जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है।

यहाँ के लिए जारी हुआ है येलो अलर्ट 

मौसम विभाग ने भोपाल, शहडोल, जबलपुर, नर्मदापुरम, रीवा, सागर और इंदौर संभाग के जिलों के लिए येलो अलर्ट जारी किया है। भोपाल मौसम केंद्र ने इन संभागों के जिलों में कहीं कहीं गरज चमक के साथ बौछारें और बिजली गिरने की सम्भावना जताई है, इन जिलों में 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से हवाएं चलने की सम्भावना हैं।

मौसम विभाग ने दी सावधानी बरतने की सलाह 

मौसम विभाग ने सलाह दी है कि जब वज्रपात हो यानि बिजली गिरे तब घर के अन्दर ही रहें, यात्रा से बचें, पेड़ और बिजली के खंभों के नीचे खड़े नहीं हों, सीमेंट कंक्रीट की दीवारों का सहारा ना लें, सीमेंट कंक्रीट के फर्श पर नहीं लेतें, बिजली से चलने वाले उपकरणों के प्लग निकाल दें , बिजली के स्विच बंद कर दें । किसनू को भी सलाह दी गई है कि वे अपनी पकी हुई फसलों को सुरक्षित कर लें।

 

 

MP Weather : 15 जिलों में बिजली गिरने की चेतावनी, 50 KM प्रति घंटा की रफ़्तार से चल सकती हैं हवाएं, IMD ने जारी किया ऑरेंज अलर्ट


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News