BHOPAL: भारी हंगामे के बीच पेश हुआ नगर निगम परिषद का बजट

Municipal-council's-budget-present-after-heavy-riot

भोपाल। 

नगरीय निकाय चुनाव के पहले नगर निगम भोपाल में आज अंतिम बजट पेश किया जा रहा है। पांच महीने बाद शुरू हुई नगर निगम परिषद् की बैठक शुरू होते ही हंगामे की भेंट चढ़ गई। हंगामे के कारण बैठक को स्थगित करना पड़ा। दरअसल, परिषद की बैठक में शुरूआती प्रश्नकाल के दौरान ही कांग्रेसी पार्षद आवारा कुत्तों पर चर्चा करने की मांग करने लगे। जिससे हंगामा बढ़ गया और कांग्रेस पार्षद अध्यक्ष के सामने धरना करने लगे परिषद अध्यक्ष पार्षदों से अपने स्थान पर जाने की गुहार लगा रहे हैं। लेकिन पार्षद सामने जमकर नारेबाजी करते रहे। निगम परिषद अध्यक्ष ने 10 मिनिट का कुत्तों पर अतिरिक्त समय की घोषणा की। कांग्रेस आज की बैठक में आज भाजपा को चौतरफा रूप से घेरने की कोशिश में है। आपको बता दें कि बैठक में प्रश्नकाल के लिए एक घंटे का समय निर्धारित किया गया है। प्रश्नकाल के बाद महापौर द्वारा बजट पेश किया जाएगा। 

महापौर ने पेश किया बजट

बैठक में महापौर ने आलोक शर्मा ने बजट पेश किया। कुल बजट दो हजार 976 हजार करोड़ 73 लाख 96 हजार का रहा। पिछले साल यह करीब 1900 करोड़ रुपए का था। केंद्र सरकार के प्रोजेक्ट अमृत और हाउसिंग फॉर ऑल के तहत केंद्र और राज्य सरकार से मिलने वाली राशि के कारण बजट का आकार बढ़ रहा है। 

नगर निगम अध्यक्ष नाराज, बैठक में नहीं आए

सूत्रों की माने तो नगर निगम अध्यक्ष सुरजीत सिंह चौहान बैठक की तिथि और एजेंडे को लेकर नाराज हो गए और वे भाजपा पार्षद दल की बैठक में शामिल नहीं हुए। दरअसल, बैठक को लेकर चौहान से चर्चा भी नहीं की गई। बताया जा रहा है कि इस पुरे मामले को लेकर महापौर आलोक शर्मा से फोन पर बहस भी हुई। 

बजट को लेकर महापौर-कमिश्नर में हो चुका मतभेद

चुनाव से पहले आर्थिक स्थिति सही ना होने की वजह से नए प्रोजेक्ट की घोषणा से कमिश्नर ने मना कर दिया था। लेकिन महापौर आलोक शर्मा निर्माण कार्य संबंधित नए प्रोजेक्ट शुरू करना चाहते थे। इस वजह से निगमायुक्त और महपौर के बीच भी बहस हो चुकी है।

आवारा पशुओं पर हो सकती है चर्चा  

कुत्तों के आतंक को  लेकर बजट में नसबंदी केंद्र, फीडिंग सेंटर्स व शेल्टर हाउस खोलने का प्रावधान किया जा सकता है। गायों के साथ अन्य आवारा पशुओं को लेकर भी निगम ने नई प्लानिंग की है।