भोपाल। ऐशबाग इलाके में बीती देर रात नगर निगम कर्मचारी ने अपने बेटों के साथ मिलकर जिम संचालक के साथ मारपीट कर दी। इतना ही नहीं देहशत फैलाने के लिए आरोपियों ने कट्टे से फायरिंग भी कर दी। एक गोली जिम संचालक के पैर में लगी, और उसे घायल अवस्था में इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां पर उसकी हालत खतरे से बाहर है। वहीं पुलिस को पूरा मामला संदिग्ध लग रहा है। फरियादी की बताई कहानी पुलिस के गले नहीं उतर रही है। पुलिस का कहना है कि जांच के बाद में आरोपियों की गिरफ्तारी की जाएगी।

जानकारी के मुताबिक बाग दिलकुशा में रहने वाले आसिफ खान पुल बोगदा के पास जिम का संचालन करते हैं। उन्होंने यह जिम नगर निगम के कर्मचारी सलीम उल्ला खान से किराए पर लिया था। जिम की जगह खाली कराने को लेकर दोनों पक्षों के बीच लंबे समय से विवाद भी चल रहा था। किराएदारी के फर्जी दस्तावेज तैयार करने के आरोप में एमपी नगर पुलिस ने जिम संचालक आसिफ खान के पिता मुन्ने खान समेत अन्य लोगों पर पुलिस ने धोखाधड़ी का केस दर्ज किया था। घायल आसिफ के पिता मुन्ने खान ने बताया कि रात में जिम खाली करने की प्रक्रिया चल रही थी। तभी मकान मालिक सलीम उल्ला खान, उसके बेटे यावर और जैनुल आ गए। जहां आरोपियों ने पहले उनके बेटे के साथ मारपीट की और पैर पर गोली चला दी। अब यह आरोपी कैसे जिम तक पहुंचे, इसको लेकर पुलिस पड़ताल करने में लगी हुई है। हालांकि पुलिस को गोली चलने की कहानी संदिग्ध मालूम हो रही है। पुलिस का कहना है कि जांच के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी। पुलिस घटना स्थल के आस पास लगे सीसीटीवी कैमरों की तलाश कर रही है। चश्मदीदों की भी तलाश की जा रही है।