निगम अधिकारियों के नाम से निरीक्षक कर रहा था वसूली, कमिश्नर ने किया सस्पेंड

भोपाल। नगर निगम प्रशासन ने शनिवार देर रात एक स्वच्छता निरीक्षक निलंबित कर दिया। बताया जाता है कि यह कार्रवाई वीडियो वायरल होने के बाद हुई है। वीडियो में निरीक्षक निगम अधिकारियों के नाम से ड्रायवरों से कमिशन मांग रहा था। निगम के ट्रांसफर स्टेशनों पर कचरा लेकर पहुंचने वाले वाहनों के ड्रायवरों से यह कमिशन मांगा जा रहा है। निगम कमिश्नर विजय दत्ता को इस बारे में जानकारी मिली तो उन्होंने तुरंत एक्शन लेते हुए निरीक्षक को निलंबित करने के निर्देश दिए।

दरअसल नगर निगम के ट्रांसफर स्टेशनों पर शहर का कचरा वाहनों में लौड कर भेजा जाता है। कचरा कलेक्शन में लगे वाहनों में डीजल चोरी होना पुरानी बात है। इस चोरी को रोकने के लिए हाल ही में निगम प्रशासन ने स्वच्छता निरीक्षक रवि गोयनर को ट्रांसफर स्टेशन का प्रभारी बनाया था। इससे पहले रवि गोयनर जोन 9 का प्रभारी एएचओ था। लेकिन जोन नहीं संभाल पाने की बजह से निगम ने ट्रांसफर स्टेशन का प्रभार दिया था। शुक्रवार को गोयनर की एक वीडियो वायरल हुई। जिसमें सामने खड़े किसी ड्रायवर से 1300 रूपए कमिशन मांगा जा रहा है। वीडियो बनाने वाले जब इस कमिशन का हिसाब मांगा तो रवि केलक्यूलेटर से हिसाब कर बता रहा है कि किस तरह कमिशन बना है और यह उपर तक दिया जाता है। वीडियो में सहायक आयुक्त से लेकर उपायुक्त, अपर आयुक्त और कमिश्नर तक का जिक्र किया जा रहा है। जब यह वीडियो कमिश्नर के पास पहुंची तो उन्होंने तुरंत गंभीरता से लेते हुए जांच के निर्देश शनिवार की सुबह दिए। दोपहर तक वीडियो की पृष्टि हो गई और देर रात रवि गोयनर को निगम ने निलंबित कर दिया।