कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने संभाला पदभार, किसानों को लेकर कही ये बड़ी बात

narendra-singh-tomar-takes-charge-as-Minister-of-Agriculture

भोपाल/नई दिल्ली।

मध्यप्रदेश के कद्दावर नेता और केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने मोदी कैबिनेट में आज कृषि मंत्रालय का पदभार ग्रहण किया ।इस मौके पर उन्होंने किसानों की आय दोगुनी करने की बात कही। उन्होंने कहा कि सरकार का फोकस इसी पर रहेगा।  कृषि फायदे में होगी तो देश फायदे में होगा, जब किसान समृद्ध होगा, तभी देश का विकास होगा।कृषि की आय दोगुनी करने के लिए फौरन ही अफसरों के साथ बैठक करेंगे। 

तोमर ने कहा कि पीएम  मोदी ने जिस अपेक्षा और उम्मीद से उनको यह नई जिम्मेदारी दी है, उसको वह अवश्य ही पूरी करने में अपना पूरा योगदान देंगे। मोदी सरकार की प्रतिबद्वता का पता इसी बात से चलता है कि उन्होंने पहली ही कैबिनेट में किसान सम्मान योजना की राशि बढ़ाकर सभी 14.5 करोड़ से अधिक किसानों तक पहुंचाने का लक्ष्य पूरा किया है। इससे प्रतीत होता है कि वह निश्चित ही 2022 तक किसानों की आय दुगनी कर देंगे।

किसानों की आय दोगुनी पर फोकस रहेगा

तोमर ने कहा जैविक खेती के लिए मार्केटिंग की ज़रूरत है। इसके लिए अफसरों के साथ बैठक कर रणनीति बनायी जाएगी। कृषि की आय दोगुनी करने के लिए फौरन ही अफसरों के साथ बैठक करेंगे। हर किसान को फायदा मिले पीएम इस दिशा में काम कर रहे हैं। DBT के जरिए आज किसानों को केंद्र से भेजा गया पूरा पैसा मिल रहा है।किसान को लागत मूल्य का डेढ़ गुना मिले ये राज्यों की इच्छाशक्ति पर निर्भर है।

किसानों को पेंशन योजना में शामिल किया

तोमर ने कहा कि कहा 2014 में जो काम मोदी सरकार ने किए थे, चुनाव के नतीजों में वो सामने आए हैं। पीएम सम्मान योजना में अब हर किसान को फायदा मिलेगा। अभी तक 12.5 करोड़ किसानों को ही योजना का लाभ मिल रहा था।छोटे किसान जो 60 साल के हो गए हैं, उन्हें किसान पेंशन योजना में शामिल किया जा रहा है।

तोमर के राजनैतिक करियर पर एक नजर

नरेंद्र सिंह तोमर बीजेपी के वरिष्ठ नेता हैं। वो लगातार दूसरी बार केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल किए गए। वर्ष 2014 में ग्वालियर से लोकसभा चुनाव जीतने के बाद तोमर ने केन्द्र की राजनीति में लम्बा रास्ता तय कर लिया है। नरेंद्र सिंह तोमर ने भारतीय जनता युवा मोर्च के शहर अध्यक्ष के पद से अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत की। इसके बाद वह 1983 से 87 तक पार्षद रहे और 1998-2008 तक विधायक तथा 2003-2007 तक प्रदेश की भाजपा सरकार में मंत्री पद पर रहे ग्वालियर के मुरार में 12 जून 1957 को जन्मे 62 वर्षीय तोमर ने 1980 में भाजपा की युवा इकाई भारतीय जनता युवा मोर्च के शहर अध्यक्ष के पद से अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत की। इसके बाद वह 1983 से 87 तक पार्षद रहे और 1998-2008 तक विधायक तथा 2003-2007 तक प्रदेश की भाजपा सरकार में मंत्री पद पर रहे। इसके बाद उन्हें प्रदेश भाजपा का अध्यक्ष बनाया गया। राज्यसभा सांसद के बाद तोमर 2009 में मुरैना लोकसभा सीट से सांसद निर्वाचित हुए। इसके बाद वर्ष 2014 में वह ग्वालियर लोकसभा सीट से सांसद बने और केन्द्र सरकार में कैबिनेट स्तर के मंत्री बनाये गये। उन्होंने कैबिनेट मंत्री के तौर पर खनन, इस्पात, श्रम, रोजगार और ग्रामीण विकास एवं पंचायत राज जैसे मंत्रालयों का दायत्वि संभाला और अब मोदी कैबिनेट में कृषि मंत्रालय की जिम्मेदारी संभालने जा रहे है।