शीतकालीन सत्र से पहले सियासत गर्म, दिल्ली में लोकसभा अध्यक्ष से मिले नरोत्तम

भोपाल। मध्यप्रदेश में शीतकालीन सत्र से पहले सत्तापक्ष और विपक्ष के बीच जंग तेज हो गई। पवई सीट से विधायक प्रह्लाद लोधी की सदस्यता को लेकर भाजपा राज्यपाल से मिल चुकी है। वहीं कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट जाने को तैयार है। इस बीच भाजपा हर सूरत में प्रह्लाद लोधी को सदन में ले जाना चाहती है। इसी सिलसिले में पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा आज दिल्ली में लोकसभा अध्यक्ष ओम वर्मा से मिले।

भाजपा नेता ने नरोत्तम मिश्रा मध्य प्रदेश विधानसभा में चल रहे गतिरोध को लेकर लोकसभा अध्यक्ष ओम विरला से चर्चा की है और मार्गदर्शन लिया, इसकी जानकारी स्वयं नरोत्तम मिश्रा ट्वीट कर दी। भाजपा प्रदेश के तमाम मुद्दों को लेकर सत्ता पक्ष को घेरने की तैयारी कर रही है, वहीं प्रह्लाद लोधी की सदस्यता को लेकर अब भी सस्पेंस बना हुआ है।.

गौरतलब है कि प्रह्लाद लोधी को भोपाल की स्पेशल कोर्ट ने 2 साल की सजा सुनाई है जिसके बाद विधानसभा अध्यक्ष ने लोधी की विधानसभा सदस्यता रद्द कर दी।  भोपाल कोर्ट के फैसले के खिलाफ लोधी हाईकोर्ट गए जहां उन्हें बड़ी राहत मिली और हाई कोर्ट ने सजा पर 7 जनवरी 2020 तक रोक लगा दी। लेकिन इसके बाद भी लोधी की सदस्यता बहाल नहीं होने पर सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच जंग छिड़ गई है। भाजपा का कहना है कि विधानसभा अध्यक्ष को सदयता रद्द करने का अधिकार है ही नहीं यह अधिकार राज्यपाल के पास है। इस संबंध में बीजेपी प्रतिनिधि मंडल राजपाल को मिलकर ज्ञापन सौंपा चुका है। आगे की रणनीति बनाने के लिए भाजपा लगातार बैठकें कर रही है इसी सिलसिले में नरोत्तम भी दिल्ली पहुंचे और लोकसभा अध्यक्ष से मुलाकात कर चर्चा की।