पूर्व मंत्री ने पैर छूने से रोका, जनता के बीच बोले- ‘नेता नहीं मुझे बेटा समझें’

भोपाल| मध्य प्रदेश की सियासत में चरणवंदना का मुद्दा गर्म है| प्रदेश सरकार में मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर द्वारा ज्योतिरादित्य सिंधिया के चरणों में दण्डवत होकर प्रणाम करने के बाद लगातार कई तस्वीरें इस तरह की सामने आई है| जिसको लेकर सवाल भी उठे| इस बीच जनता के बीच बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा की सहजता सुर्ख़ियों में आ गई| जब एक बुजुर्ग ने बीजेपी नेता के पैर छुए तो उन्होंने इसके लिए मना करते हुए कहा मुझे नेता नहीं अपना बेटा समझिये इस दौरान उन्होंने सभी को पैर न छूने की बात कही| 

दरअसल, पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा दतिया पहुंचे थे, जहां कई लोग अपनी समस्याओं को लेकर उनसे मिले| इस दौरान लोगों ने उन्हें अपने परेशानियों को लेकर ज्ञापन भी सौंपे, तभी कई लोगों ने उनके पैर छूने का प्रयास किया|  जिस पर नरोत्तम मिश्रा ने तत्काल उन्हें रोका और कहा आप पैर न छुएं, नेता नहीं मुझे अपना बेटा ही समझें| वहीं उन्होंने कहा किसी को भी मेरी छूने की जरुरत नहीं है| नरोत्तम मिश्रा ने जनता के बीच एक अच्छा सन्देश देने की कोशिश की, जिसको लेकर उनसे मिलने आये लोग भी खुश हो गए|

जब भी कोई पीड़ित व्यक्ति नेता के पास अपनी समस्या लेकर पहुँचता है तो उनके पैर छु लेता है, ऐसी तस्वीरें अक्सर देखी जाती है, वहीं समर्थक भी अपने नेताओं की चरणवंदना करते नजर आते हैं| इस तरह के मामले लगातार सामने आ रहे हैं, इस बीच नरोत्तम मिश्रा ने यह साफ़ कर दिया है वे इस तरह कि चरणवंदना के खिलाफ हैं| 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here