नरोत्तम बोले, ‘किसान कर्जमाफी’ के नाम पर किया गया सदी का सबसे बड़ा घोटाला

भोपाल| कमलनाथ सरकार (Kamalnath Government) के अंतिम 6 माह के कार्यकाल में लिए गए फैसलों की समीक्षा के लिए गठित ‘मंत्री समूह’ की बैठक सोमवार को मंत्रालय में हुई| बैठक में गृह तथा लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा, जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट (Tulsi Silavat) और किसान कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री कमल पटेल (Kamal Patel) मौजूद रहे| बैठक को लेकर चर्चा में नरोत्तम मिश्रा (Narottam Mishra) ने कर्जमाफी को सदी का सबसे बड़ा घोटाला बताया है|

मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा शुरुआती जांच में तथ्य मिले है कि किसान ऋण माफी योजना के नाम पर सदी का सबसे बड़ा घोटाला किया गया है| जिसमे ऋण माफी के प्रमाण पत्र बांट दिए कर्ज माफ नही हुआ| उन्होंने बताया कि बिना नाम पते, एवं राशि के प्रमाणपत्र यहाँ से सीएम के हस्ताक्षर से जारी कर दिए, पैसा भी जारी कर दिया गया, लेकिन किसानों के खातों तक कोई पैसा नही पहुंचा| आखिर पैसा कहां गया इसकी ही जांच होना है|

कर्जमाफी के नाम पर किसानों को ठगा
मंत्री डॉ मिश्रा ने कहा कर्जमाफी के नाम पर किसानों को ठगा गया है, इसकी तह तक जाना है, वास्तविकता सामने आने के बाद आगे की कार्रवाई तय करेंगे| उन्होंने बताया कोरे प्रमाणपत्र जारी किए गए, ऐसा नही किया जा सकता था, किसानों के साथ सदी का सबसे बड़ा घोटाला किया गया है| तात्कालिक समय मे इनके पार्टी के ही नेता कहते थे कि कर्ज माफ नही हुआ|

ग्वालियर हादसे को दुखद घटना बताया
ग्वालियर में हुई आगजनी की घटना में सात लोगों की मौत पर नरोत्तम मिश्रा ने दुःख जताया| साथ ही जानकारी दी कि इस दुखद घटना में मृतकों के परिजन को 4-4 लाख रुपए आर्थिक सहायता देने का मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here