नरोत्तम का पलटवार- कमलनाथ सुंदरकांड करा रहे, दिग्विजय लंका कांड में बिजी

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट

अयोध्या (Ayodhya) में 5 अगस्त को राम मंदिर (Ram Mandir) का भूमि पूजन (Bhoomi Poojan) होना है। इसको लेकर सारी तैयारियां पूरी कर ली गई है। प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) समेत देश भर से 200 लोगों को कार्यक्रम में उपस्थित होने के लिए मंदिर ट्रस्ट द्वारा न्योता दिया गया है। वहीं मंदिर भूमि पूजन को लेकर प्रदेश में सियासत गर्मी हुई है। पूर्व मुख्यमंत्री और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह (Former Chief Minister And Rajyasabha MP Digvijay Singh) लगातर राम मंदिर भूमि पूजन को गलत मुहूर्त पर कराए जाने को लेकर प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा पर निशाना साध रहें है।

दिग्विजय सिंह के बयान पर प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा (Home Minister Narottam Mishra) ने जम कर हमला बोलते हुए दिग्विजय सिंह को असुर बताया है। नरोत्तम मिश्रा ने कहा, कमलनाथ (Kamal Nath) सुंदरकांड (Sundarkand) करा रहे हैं और दिग्विजय सिंह लंका कांड (Lanka Kand) में बिजी हैं। उन्होंने कहा, इतिहास गवाह है जब-जब कोई धार्मिक कार्य या हवन होते है तो आसुरी शक्तियां विघ्न बाधाएं डालती है। उसी तरह की राजनीति दिग्विजय सिंह कर रहें है। उन्होंने कहा दिग्विजय सिंह को भगवान माफ नहीं करेंगे। दिग्विजय सिंह राम मंदिर के मुहूर्त वाले बयान पर मंत्री मिश्र ने कहा कि क्या वो ज्योतिषाचार्य हो गए हैं, उन्होंने किससे महूर्त निकलवाया है यह बतादें हम उनसे शाहत्र्त करवा देंगे किसी का।वहीं दिग्विजय सिंह द्वारा सलाह देने पर नरोत्तम मिश्रा ने दिग्विजय सिंह को फ्री कंसल्टेंसी खोलने की सलाह दी है। उन्होंने कहा दिग्विजय सिंह दिन रात सभी को सलाह देते रहते हैं उन्हें फ्री कंसल्टेंसी खोल लेना चाहिए।

पुलिस मुख्यालय द्वारा पुलिसकर्मियों की छुट्टियां रद्द करने के आदेश पर राज्यसभा सांसद विवेक तंखा ने इसमें संशोधन के लिए गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा को पत्र लिखा है। तंखा ने लिखा कि पुलिस मुख्यालय द्वारा जारी आदेश न्यायसंगत प्रतीत नहीं होता है। छुट्टी पर सभी पुलिसकर्मियों का अधिकार है। खासकर कोरोना काल मे ड्यूटी कर रहे पुलिसकर्मियों की मनोज स्थिति समझते हुए संशोधन किया जाए। विवेक तन्खा के पत्र पर ग्रहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा, मुझे विवेक तन्खा का पत्र व्हाट्सएप पर मिला है। उन्होंने कहा वें (विवेक तंखा) विद्वान है, मैं उनका ज्ञानवर्धन नहीं कर रहा। लेकिन मैं अपना मत स्पष्ट करना चाहता हूं। उन्होंने कहा, प्रदेश में 588 पुलिस कर्मी कोरोना से संक्रमित है और 2 हज़ार जवान क्वॉरेंटाइन है। उन्होंने कहा अगर यह जवान घर जाते है तो अपने परिवार के लोगों को भी संक्रमित हो सकते है। प्रदेश के पुलिसकर्मी प्राणों को लगा कर सेवा कर रहें है वो लोग वंदनीय और अभिनंदनीय है। उन्होंने कहा कि हम पुलिसकर्मियों और उनके परिवार की जान को खतरे में नहीं डाल सकते है, हमारी पहली प्रतामिक्ता उनका स्वास्थ्य है। उन्होंने कहा छुट्टी पर परमानेंट रोक नही लगी है सिर्फ कोरोना काल तक के लिए निर्णय लिया गया है। गृहमंत्री ने कहा अगर अतिआवश्यक होगा तो डीजी उन्हें छुट्टी देंगे अगर वें नहीं देंगे तो हमारे पास आए हम छुट्टी देंगे।