भोपाल, डेस्क रिपोर्ट
कांग्रेस की CWC बैठक पर एक बार फिर प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (Home Minister Narottam Mishra) ने तंज कसा है। मिश्रा ने कहा कि  वर्किंग कमेटी की बैठक में अध्यक्ष पद को‌ लेकर जो भी कुछ हुआ वह सब स्क्रिप्टेड था। हास्यास्पद यह रहा कि इतने पुराने कांग्रेसी कपिल सिब्बल,गुलाम नबी आजाद जैसे नेता भी गद्दारों की श्रेणी में आ गए। कांग्रेस के‌ स्कूल में अब हेडमास्टर साहब ही फर्स्ट हो‌ गए।

मिश्रा ने कहा कि मैंने सोमवार को ही कहा था की हेड मास्टर का लड़का ही फर्स्ट आता है लेकिन आज उसमें यह अलग हुआ कि कांग्रेस की सीडब्ल्यूसी बैठक (Cwc Meeting) में हेड मास्टर खुद ही फर्स्ट आ गए।पहले सोनिया जी ने विचार किया और फिर सोनिया गांधी जी दिया और सब नेताओ के बोलने पर इस्तीफा वापस ले लिया, यह सब सोची समझी है। आगामी 6 महीने में क्या होगा वो भी तय है ।इसमे यह हुआ कि पुराने कांग्रेसी, कपिल सिबल ओर गुलाम नबी आज़ाद तक गद्दारों की श्रेणी में आ गए है।कांग्रेस में अगर लोकतंत्र होता तो गुलाम शाम तक आजाद हो जाते। वही कमलनाथ के सोनिया गांधी को समर्थन करने वाले बयान पर डॉ मिश्रा ने चुटकी लेते हुए कहा कि कमलनाथ की आस्था अलग है, वो बुजुर्ग है तो वो उधर ही होंगे, उन्होंने अपनी आस्था ट्वीट के माध्यम से बताई भी है ।

आज हम अगले कदम की ओर बढ़ेंगे
आज होने जा रही कैबिनेट बैठक पर कहा कि आत्मनिर्भर भारत के लिए आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश जरूरी है और आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश बनाने के लिए मंत्रियो का एक समूह बनाया गया था। उन मंत्रियों के समूह की दो दो तीन तीन बैठकें हो चुकी हैं। उसी के प्रेजेंटेशन में आज हम अगले कदम की ओर आगे बढ़ेंगे।

गडकरी जी का अपना एक इतिहास है
नितिन गडकरी के द्वारा सड़क शिलान्यास कार्यक्रम पर मिश्रा ने कहा पूरा भारत जानता है की सड़कों के मामले में नितिन गडकरी जी का अपना एक इतिहास है। उनको पहचान जाता है। आज गडकरी जी लगभग 45 सड़को की एक साथ शुरुआत करेंगे।

सदस्यता अभियान पूरे मीडिया के सामने हुआ

ग्वालियर में हुए सदस्यता अभियान की कांग्रेस द्वारा पोल खोल अभियान को लेकर कहा ग्वालियर के सदस्यता अभियान में जो भी व्यक्ति भाजपा में शामिल हुआ है वह पूरे मीडिया के सामने हुआ है कांग्रेस खुद ही अपनी पोल खुलेगी।

कोरोना के बढते आंकड़े को लेकर कहा

कोरोना के बढ़ते ग्राफ पर कहा कि मैं पिछले 4 महीने से यह बात कह रहा हूं आज भी वही बात कह रहा हूं कि जब तक वैक्सिंग नहीं आता तब तक हमें कोरोना के साथ ही रहने की आदत डालनी होगी। लेकिन मध्यप्रदेश का रिकवरी रेट बहुत ज्यादा है लगभग 80% लोग स्वस्थ होकर अपने घरों पर जा रहे हैं। हमारा संकल्प है कि हम कोरोना को जल्द ही हराएंगे।