‘मुस्लिमों को जोड़ो, हिंदुओं को तोड़ो’ की राजनीति पर चल रही कांग्रेस : संबित पात्रा

National-spokesperson-said-that-Congress-leaders-insulting-Hindus-by-talking-about-caste

भोपाल।

कांग्रेस नेता सीपी जोशी के पीएम मोदी और केन्द्रीय मंत्री उमा भारती जातिसूचन बयान के बाद सियासत गर्मा गई है। भाजपा लगातार हमले बोल रही है। इसी बीच भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला है।पात्रा ने कहा कि 90% पर कांग्रेस पार्टी हार चुकी है बस 10% पर लड़ाई है।जातिवाद और बंटवारे की राजनीति कांग्रेस पार्टी ने की। कांग्रेस की स्ट्रेटेजी है कि जातियों के आधार पर हिंदुओं को बाट दो और मुसलमानों को जोड़ लो। । पार्टी अपनी बंद कमरे की रणनीति पर अमल करते हुए ‘मुस्लिमों को जोड़ो और हिंदुओं को तोड़ो’ की राजनीति कर रही है। जातिसूचक टिप्पणियां करके कांग्रेस हिंदुओं का अपमान कर रही है, जिसे प्रदेश की जनता सहन नहीं करेगी। संबित पात्रा ने सीपी जोशी को कांग्रेस से बर्खास्त करने की मांग की।

 पत्रकारवार्ता में पात्रा ने कांग्रेस से पूछा कि क्या कुशवाहा, लोधी, गुर्जर, यादव और किरार जातियों का मान-सम्मान नहीं होता?  कांग्रेस नेता सी.पी.जोशी ने कांग्रेस की ध्रुवीकरण, बंटवारे की राजनीति के चलते जो बयान दिया है, वह हिंदुओं का अपमान करने वाला है। सी.पी.जोशी ने न सिर्फ प्रधानंमत्री और उमा भारती की जाति पूछी, बल्कि सार्वजनिक रूप से जातियों का उल्लेख करके उन्हें अपमानित करने का प्रयास भी किया है। पात्रा ने कहा कि कांग्रेस के नेता नवजोतसिंह सिद्धू, कमलनाथ, राजबब्बर और मणिशंकर अय्यर लगातार प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ अपमानजनक शब्दों का प्रयोग करते रहे हैं, अब इसमें एक नया नाम सी.पी.जोशी का नाम भी जुड़ गया है। 

हर चुनाव में ऐसा ही करती है कांग्रेस

पात्रा ने कहा कि हिंदुओं को बांटने की कांग्रेस की यह रणनीति नई नहीं है, बल्कि कांग्रेस हर चुनाव में ऐसा ही करती रही है। उन्होंने कहा कि गुजरात चुनाव के समय कांग्रेस ने हिंदुओं को दलितों और सवर्णों के रूप में तोड़ने का प्रयास किया था। कर्नाटक चुनाव के दौरान कांग्रेस ने लिंगायत समाज को हिंदुओं से अलग बताने और अलग करने की नाकाम कोशिश की थी। अब कांग्रेस नेता सी.पी.जोशी का यह बयान भी ऐसे समय में आया है जब मध्यप्रदेश सहित पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव हो रहे हैं। स्पष्ट है कि कांग्रेस अपने जातिवादी एजेंडा को हवा देकर एक बार फिर हिंदुओं को तोड़ने की साजिश रच रही है।


जनता तय करे, 15 सालों का विकास चाहिए या 15 प्रतिशत कमीशनखोरी

 संबित पात्रा ने कहा कि कांग्रेस का एक ही नारा है 90% मुसलमान और 15% कमीशन। मैं कमलनाथ को यह बता देना चाहता हूं कि जिस तरह वे सड़क परिवहन मंत्रालय को एटीएम समझते रहे हैं, उस तरह मध्यप्रदेश एटीएम राज्य नहीं है और प्रदेश की जनता उसे बनने भी नहीं देगी।  कांग्रेस की सोच स्पष्ट है कि उसे 90 फीसदी मुसलमान चाहिए और बाकी बेईमान। ऐसे में यह प्रदेश की जनता को तय करना है कि उसे भाजपा सरकार का 15 सालों का विकास चाहिए या फिर कांग्रेस और उसके कमलनाथ जैसे नेताओं की 15 प्रतिशत कमीशनखोरी चाहिए।इस दौरान उन्होंने कमलनाथ को “कमीशननाथ” का नाम है।

मणिशंकर ने किया था ‘नीच’ शब्द का इस्तेमाल

उन्होंने कहा कि गुजरात चुनाव के समय कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने प्रधानमंत्री के लिए ‘नीच’ शब्द का इस्तेमाल किया था। अब कांग्रेस नेता सी.पी.जोशी ने भी प्रधानमंत्री की जाति के बारे में बयान देकर यही काम किया है। अब तो इससे भी आगे बढ़कर कांग्रेस नेता प्रधानमंत्री की माताजी के बारे में भी टिप्पणी करने लगे हैं। कांग्रेस नेता राज बब्बर ने नोटबंदी के बाद भी प्रधानमंत्री मोदी जी की मां के बारे में टिप्पणी की थी। कांग्रेस का यह रवैया देश की हर संघर्षशील माता का अपमान है। उन्होंने कहा है कि सी.पी.जोशी के बयान के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने माफी की बात कही है, लेकिन यह एक नाटक है। अगर कांग्रेस अध्यक्ष इस प्रकरण को वास्तव में माफी के लायक मानते हैं, तो उन्हें सी.पी.जोशी को तत्काल हटाना चाहिए।