National Voters Day 2021 : सचेत मतदाता – सशक्त भारत

वोट देना आज भी कुछ नागरिकों के लिए मात्र औपचारिकता है और कुछ नागरिकों के लिए एक शासकीय अवकाश (Government holiday)।

National Voters Day

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। पैट मिशेल (Pat michelle) ने कहा था यदि हम वोट (National Voters Day) देने नहीं जाते हैं तो हम इतिहास (History) की अनदेखी कर रहे हैं और भविष्य को खुद से दूर कर रहे हैं। वोट (Vote) देना ना कि केवल हमारा अधिकार है बल्कि हमारी जिम्मेदारी भी है । वोट के माध्यम से हम हमारा स्वर्णिम भविष्य चुनते हैं एवं देश को प्रगतिशील बनाने में अपना सहयोग प्रदान करते हैं। लेकिन वोट देना आज भी कुछ नागरिकों के लिए मात्र औपचारिकता है और कुछ नागरिकों के लिए एक शासकीय अवकाश (Government holiday)।

CM Helpline : मध्यप्रदेश सरकार की बड़ी उपलब्धि, 1 करोड़ से ज्यादा को मिला लाभ

अपने एक वोट का महत्व बताने के लिए और नागरिकों को सजग बनाने के लिए भारतीय चुनाव आयोग (Election Commission of India) ने साल 2011 से 25 जनवरी के दिन को राष्ट्रीय मतदाता दिवस (National Voters Day 2021) के रूप में मनाना शुरू किया। भारतीय चुनाव आयोग का इस दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य लोगों में जागरूकता फैलाना था , ज्यादा युवाओं को वोटर लिस्ट में जोड़ना था और लोगों को मतदान के लिए प्रेरित करना था।

भारतीय चुनाव आयोग हर साल इस दिवस को एक थीम के अंतर्गत मनाता है । 11वे नेशनल वोटर्स डे(NVD) वर्ष 2021 की थीम है ‘मतदाताओं को सशक्त, सचेत, सुरक्षित और जागरूक’ (Making Our Voters Empowered, Vigilant, Safe and Informed) बनाना है। साथ ही आज ही के दिन चुनाव आयोग नई मतदाताओं को वोटर कार्ड देकर सम्मानित भी करता है।

यह भी पढ़े… खुशखबरी : अब घर बैठे डाउनलोड कर सकते वोटर आईडी, यह है पूरा प्रोसेस

विश्व भारत को एक युवा (Youth) देश के रूप में देखता है जिसके तहत भारत (India) की जिम्मेदारी संपूर्ण विश्व के प्रति और भी बढ़ जाती है ऐसे में भारतीय नागरिक का सचेत, सशक्त, सुरक्षित और जागरूक होना अति आवश्यक है।
वर्ष 2019 में कोरॉना जैसी वैश्विक महामारी होने के बावजूद राष्ट्रीय एवं राजकीय अफसरों ने नई तकनीकों का इस्तेमाल कर , विभिन्न तरीकों का इस्तेमाल कर मतदाताओं को सुरक्षित रख चुनाव को संपूर्ण कराया।

जिस प्रकार लोकतंत्र की गरिमा को बनाए रखना हर सरकार का कर्तव्य है उसी प्रकार लोकतंत्र (Democracy) के अस्तित्व को बचाए रखना नागरिकों का भी कर्तव्य है। आज राष्ट्रीय मतदाता दिवस के उपलक्ष में हम सभी देशवासी एक शपथ लेते हैं कि हम अपने मत के अधिकार को कभी व्यर्थ नहीं जाने देंगे और लोकतंत्र के अस्तित्व को बचाने में और इस देश को प्रगतिशील बनाने में अपना पूर्ण सहयोग देंगे।

( लेखक – MP Breaking News के संपादक गौरव शर्मा है। )