नीमच जेल ब्रेक मामले में बोले शिवराज-वैसे अपराधी पकड़े नहीं जा रहे, जो पकड़े वो भाग रहे

neemuch-jail-break-case-shivraj-said-the-criminals-are-not-being-caught

भोपाल।

नीमच जेल ब्रेक मामले के बाद सियासत गर्मा गई है।कानून व्यवस्था को लेकर सवाल उठने लगे है, हालांंकि लापरवाही के चलते चार जेल प्रहरियों को निलंबित कर दिया गया है।वही इस घटना को लेकर विपक्ष ने भी सरकार को घेरना शुरु कर दिया है। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए कमलनाथ सरकार पर कड़ा हमला बोला है। शिवराज ने कहा है कि नशे और बलात्कार के आरोपी फरार हो रहे है, वैसे भी अपराधी नहीं पकड़े जा रहे है औऱ जो पकड़े थे वो भाग रहे है, कांग्रेस सरकार सो रही है।

         वही भाजपा प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने भी जेल ब्रेक की घटना पर कांग्रेस सरकार पर जमकर हमला बोला।सिंह ने प्रदेश में बिगड़ती क़ानून व्यवस्था को लेकर कहा कि पूरे प्रदेश की क़ानून व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है और आज सरकार सिर्फ़ तबादलो में व्यस्त है । लोगों में दहशत का माहौल है। उन्हें लगने लगा है कि प्रदेश में कुछ भी हो सकता है। राकेश सिंह के मुताबिक चार कैदियों में तीन नशे के कारोबार से जुड़े हैं।लेकिन सरकार को इससे कोई लेना देना नहीं है। सिंह ने सीएम कमलनाथ पर तंज कसते हुए लिखा है कि सरकारी अस्पताल में सीएम इलाज क्या करा लिया पूरी कांग्रेस उसे प्रेरणादायक बताने में जुटी है, बाकी मसलों पर सरकार का ध्यान ही नही है।

ये है पूरा मामला

दरअसल, आज रविवार के तड़के सुबह नीमच जेल में बंद चार कैदी जेल की दीवार फांदकर फरार हो गए। यह कैदी दुष्कर्म, नशीली दवाओं की तस्करी समेत संगीन अपराधों में सजा काट रहे थे। कैदियों के फरार होने से पुलिस प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है।हालांकि पकड़ने के लिए पुलिस द्वारा तलाशी अभियान चलाया जा रहा है।बताया जा रहा है कि जेल की दीवार के पास लगे पेड़ व बेल की मदद से कैदी जेल की दीवार पर चढ़ गए और बाहर छलांग लगा दी। कैदियों को पकड़ने के लिए जिले के साथ ही आसपास के क्षेत्रों की नाकाबंदी कर दी गई है। इनमें से दो कैदी राजस्‍थान के हैं और दो मध्यप्रदेश के।इस मामले में लापरवाही के चलते प्रशासन ने 4 जेल प्रहरियों को निलंबित कर दिया है।

यह कैदी हुए फरार

-नरसिंह पिता बंसीलाल बंजारा (20) निवासी ग्राम गणेशपुरा थाना भिंडर जिला उदयपुर। नरसिंह को एनडीपीएस के तहत 10 साल की सजा हुई थी।

-दुबे लाल पिता दशरथ धुर्वे (19) निवासी ग्राम गोगरी थाना नौगांव जिला मंडला। दुबेलाल को धारा 376 में 10 साल की सजा हुई थी। 

-पंकज पिता रामनारायण मोंगिया (21) निवासी ग्राम नल वाई थाना बड़ी सादड़ी जिला चित्तौड़। पंकज एनडीपीएस के तहत सजा काट रहा था।

-लेख राम पिता ���मेश बावरी (29) निवासी ग्राम चंदवासा थाना मल्हारगढ़ जिला मंदसौर।

इनको किया निलंबित

 जेल से कैदियों के फरार होने का मामले में DG जेल सजंय चौधरी ने एक मुख्य प्रहरी बालमुकुंद और तीन प्रहरी बिजेंद्र, ईश्वर और पंक्ति को निलंबित कर दिया है।

पहले भी कई बार फरार हो चुके है कैदी

इससे पहले फरवरी 2017 में भी मुरैना जिला जेल से दो कैदी फरार हो गए थे। वहीं 2016 में आतंकी संगठन सीमी के आठ आतंकवादी भोपाल जेल के प्रहरी की हत्या कर फरार हो गए 

नीमच जेल ब्रेक मामले में बोले शिवराज-वैसे अपराधी पकड़े नहीं जा रहे, जो पकड़े वो भाग रहे