आईफा समारोह के लिए मुर्गे की सिफारिश

भोपाल।

जी हां खबर का शीर्षक सुनकर चौकिये मत। दरअसल मुख्यमंत्री कमलनाथ को एक पत्र लिखा गया है और यह पत्र कृषि विज्ञान केंद्र यानी राजमाता विजयराजे सिंधिया कृषि विश्वविद्यालय की ओर से लिखा गया है जो झाबुआ में स्थित है। वहां के निदेशक ने मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में आईफा अवार्ड 2020 समारोह इंदौर में आदिवासी संस्कृति व खानपान को बढ़ावा देने और प्रमोट करने के लिए मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया है और उनसे कहा है कि आपने ब्लॉग के माध्यम से यह अवार्ड प्रदेश के आदिवासियों को समर्पित किया है।

इसी संदर्भ में निदेशक ने सुझाव दिया है कि पश्चिमी मध्यप्रदेश के आदिवासी अंचल झाबुआ के प्रसिद्ध कड़कनाथ मुर्गे को फिल्मी सितारों के बीच में परोसा जाए जो कम मात्रा में फैट और प्रोटीन आयरन से भरपूर होने व अन्य खूबियों के कारण पूरे देश में अपनी अलग पहचान बना चुका है। मुर्गे के साथ-साथ इस क्षेत्र के दाल पानिया ,जो यहां का प्रसिद्ध व्यंजन है, की भी सिफारिश फिल्मी सितारों के बीच परोसे जाने के लिए की गई है। पत्र में लिखा गया है कि यदि ऐसा होता है तो इन दोनों उत्पादों को वैश्विक पहचान मिलेगी जिसका सीधा फायदा यहां के आदिवासियों को होगा और क्षेत्र में रोजगार के नए रास्ते खुलेंगे ।