अब युवक कांग्रेस चुनाव में सिंधिया गुट हाशिए पर

भोपाल।
 मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में 22 मार्च को युवक कांग्रेस (youth congress) के चुनाव (election) होने जा रहे हैं। इन चुनावों के माध्यम से मध्य प्रदेश के नए युवक कांग्रेस अध्यक्ष (youth congress president) का चुनाव होना है। गुटो में बटी कांग्रेस में इस पद के लिए एक बार फिर मशक्कत तेज हो गई है । दरअसल इस पूरे मामले में चुनाव प्रक्रिया (election process) को लेकर सवालिया निशान खड़े हुए हैं। आलाकमान का फरमान आया है कि  इन चुनावों के लिए प्रत्याशियों को इंटरव्यू (interview) देने होंगे।
उसके बाद ही वे चुनाव में खड़े हो पाएंगे ।ज्योतिरादित्य सिंधिया (jyotiraditya scindia) गुट  की ओर से प्रबल  दावेदार माने जाने वाले कृष्णा घाडगे (krishna ghatge) ने इस पूरी चुनाव प्रक्रिया का ही विरोध किया है ।उनका कहना है कि 15 साल तक हमने सड़कों पर संघर्ष किया और उसके बाद भी हमें अगर इंटरव्यू देने की जरूरत पड़ती है तो ऐसे पद का क्या फायदा। अगर इंटरव्यू लेने ही हैं तो फिर विधायकों और सांसदों के प्रत्याशियों के क्यों नहीं लिए थे ।
अपनी 15 साल के संघर्ष का जिक्र करते हुए कृष्णा ने यह भी कहा कि अगर दिल्ली से आया हुआ कोई परिंदा हमारा इंटरव्यू लेकर हमें सर्टिफाइड करें तो इस से कोई मतलब नहीं। कृष्णा ने इस चुनाव के लिए केवल अपना बायोडाटा दिया है और इंटरव्यू प्रक्रिया में भाग लेने से इंकार कर दिया है। कुल मिलाकर पूरी चुनाव प्रक्रिया की विवादास्पद हो रही है और ऐसे में हाशिये पर चल रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया गुट के प्रबल दावेदार का यह बयान भी  इस बात को बता रहा है कि कांग्रेस में सब कुछ ठीक नहीं।