पटवारियों को राहत, नहीं होंगे प्रोबेशन पीरियड और वेतन के नए नियम लागू

school-education-department-send-proposal-to-peb

भोपाल, न्यूज डेस्क

पटवारियों की नियुक्ति को लेकर सरकार द्वार नाया प्रोबेशन पीरियड नियम लाया गया था, जिसमें प्रोबेशन पीरियड और वेतन में कुछ बदलाव किया गया था, जिसको लेकर काफी विवाद हुआ था, जो कि अब हल हो चुका है। बीती जनवारी में नियुक्त हुए पटवारियों को पुराने पटवारियों के समान ही प्रोबेशन पीरियड होगा और सैलरी मिलेगी।

दरअसल, साल 2017 में पटवारी परिक्षा हुई थी, जिसमें सिलेक्ट हुए लोगों ने ज्वाइन नहीं किया था, जिसके चलते कुछ पद खाली रेह गए थे, जिसको भरने के लिए वेटिंग लिस्ट वालों को नियुक्त किया जा रहा था। जिसके बाद कुल 2,500 पटावारियों की ट्रैनिंग 2020 में की गई। वहीं 2019 दिसंबर में प्रोबेशन पीरियड को लेकर नए नियम के आदेश सरकार द्वारा जारी किए गए , जिसको लेकर काफी विवाद हुआ था।

जारी आदेश में क्या थे प्रोबेशन पीरियड के नियम

जारी आदेश से पहले तृतीय और चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों का प्रोबेशन पीरियड दो साल का होता था, जिसको बढ़ाकर 3 साल कर दिया था। वहीं वेतन को लेकर नियुक्ती के पहले साल 70 फीसदी, दूसरे साल 80 फीसदी और तीसरे साल 90 फीसदी वेतन दिया जाता था। जिसको लेकर पटवारियों में नाराजगी थी, उनका कहना था कि जब परिक्षा 2017 में पास की है और उसकी वेटिंग दी जा रही है, तो नए नियमों को क्यों लागू किया जा रहा है। नियुक्त किए गए पटवारियों ने सरकार को इस बारे में अवगत कतराते हुए कहा कि जब 2017 की वेटिंग के आधार पर नौकरी दी जा रही है तो नए नियमों को क्यों लागू किया जा रहा है। परीक्षा के आधार पर नियुक्त हुए लोगों पर ये नियम लागू नही तो हम पर क्यों किए जा रहे है, जबकि हमने भी 2017 में परीक्षा पास की है ओर उसके के रिक्त पड़े पदों पर नियुक्ति की जा रही है।

नहीं लागू होंगे नए नियम

वहीं इस विंसंगति के बारे में पता लगने के बाद भू-अभिलेखन और बंदोबस्त आयुक्त ने आदेश जारी किया है, जिसमें उन्होंने कहा कि पटवारी भर्ती परीक्षा 2017 में चयन हुए नए पटवारियों का प्रशिक्षण जनवरी 2020 में शुरु हो चुका है। वहीं 2019 में जीएडी  के जारी किए गए सर्कुलर के हिसाब से वेतन निर्धारण कर भुगतान किया जा रहा है। इन सभी पटवारियों की नियुक्ति भू-लेखन सेवा भर्ती नियम 2012 के अनुसार की गई है, जिनपर 2019 में लागू किए गए नियम लागू नहीं होते है। इसलिए पटवारी भर्ती परीक्षा से नियुक्त हुए पटवारियों को दिसंबर 2019 के पहले नियुक्त पटवारियों के समान ही वेतन निर्धारण कर भुगतान करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here