नौंवी के छात्र ने केरोसिन डालकर की आत्महत्या, मानसिक बीमार से था परेशान

भोपाल। ऐशबाग थाना इलाके में मानसिक बीमार नौवीं कक्षा के एक छात्र ने बीती रात खुदपर कैरोसिन डालकर आग लगा ली। घटना के समय वह घर में अकेला था। मृतक के परिजनों ने पुलिस को बताया कि वह पहले भी कई बार खुदकुशी का प्रयास कर चुका था। मामले में पुलिस ने मर्ग कामय कर लिया है। घटना की जांच की जा रही है।

पुलिस के मुताबिक बाग फरहत अफ जा निवासी आरिफ पिता मो अहमद (16) कक्षा नौंवी का छात्र था। बीती रात जब उसके परिवार बाहर गए हुए थे, और वह अकेला था। तभी उसने अपने ऊपर केरोसिन का तेल डालकर आग लगा ली। चीख पुकार सुनकर आसपास के लोगों ने आग बुझाई और उसे लेकर अस्पताल पहुंचे। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। अस्पताल की सूचना पर पहुंची पुलिस ने मृतक का शव बरामद कर उसे पोस्टमार्टम के लिए हमीदिया अस्पताल भेज दिया। छात्र के परिजनों ने पुलिस को बताया कि वह मानसिक रूप से बीमार था। वह पहले कई बार घर से भाग भी चुका था। अब पुलिस परिजनों के बयान दर्ज करने के बाद आगे की कार्रवाई करेगी। सुसाइड नोट नहीं मिलने से मौत के कारणों का पता नहीं चल सका है। उधर छोला मंदिर में रहने वाले 35 वर्षीय कैलाश अहिरवार ने अपने घर में फ ांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना के कारणों का खुलासा नहीं हो सका है। पुलिस ने शव को पीएम के लिए भेज दिया है। बजरिया पुलिस ने बताया कि संध्या पिता विजय गुप्ता (18) न्यू धोबी घाट में रहती थी। कक्षा नौंवी तक पढ़ाई करने के बाद वह घर में रहती थी। बीती रात युवती ने अपने घर में आग लगा ली थी। उपचार के दौरान हमीदिया अस्पताल में उसकी उपचार के दौरान बीती रात मौत हो गई।  उसने ऐसा कदम क्यों उठाया, इसको लेकर पुलिस परिजनों के डिटैल बयान दर्ज करने की तैयारी में है।