कोई नहीं रहेगा बेरोजगार, सरकार सबको देगी रोजगार..नरोत्तम मिश्रा

भोपाल।

कोरोना(corona) संकटकाल के बीच राहत देते हुए प्रदेश के गृह और स्वास्थ्य नरोत्तम मिश्रा(narottam mishra) ने बड़ा ऐलान किया है। मंगलवार को प्रेस कांफ्रेंस(press conference) करते हुए स्वास्थ्य एवं गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि 22 मई से मध्यप्रदेश(madhyapradesh) में ‘कोई नहीं रहेगा बेरोजगार’ अभियान की शुरूआत होगी। जिसके तहत सबको रोजगार(employment) दिया जायेगा। वहीँ उन्होंने कहा है कि प्रवासी मजदूरों(migrant labourers) को मनरेगा के अंतर्गत रोजगार दिया जाएगा। प्रत्येक शहरी विक्रेता को 10000 रूपए मिलेंगे। इसके साथ ही प्रदेश में लोकल(local) के लिए वोकल(vocal) को प्राथमिकता दी जाएगी।

दरअसल सोमवार को प्रेस कांफ्रेंस करते हुए नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि उन्होने कहा कि हम सबको रोजगार देंगे, इस अभियान की शुरूआत सीएम शिवराज सिंह चौहान(shivraj singh chouhan) करेेंगे। इसके बाद सभी विधायक(mla) अपने विधानसभा क्षेत्र के जनपद पर जॉब कार्ड बाटेंगे। मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने आगे कहा कि ग्लोबल टेंडर(global tender) में सरकार ने रोक लगा दी है। खास तौर पर चिकित्सा उपकरणों के लिए यह फैसला लिया गया है। प्रदेश को मनरेगा अंतर्गत 11000 करोड़ से अधिक की राशि मिलेगी। गांव में जल संरचनाएं बनेगी। प्रत्येक शहरी विक्रेता को 10000 रूपए मिलेंगे।

वहीँ प्रदेश में 112000 विक्रेता चिन्हित किए गए हैं। प्रदेश में 22000 छोटे उद्योगों को एमएसएमई अंतर्गत प्रोत्साहित किया जाएगा। लोकल के लिए वोकल को प्राथमिकता दी जाएगी। आज के बाद से ऐसे उपकरण जो देश में बन सकते हैं। उन्हें विदेशों से नहीं खरीदा जायेगा। मिश्रा ने बताया कि गांव में जल संरचनाएं बनेगी। ग्लोबल टेंडरिंग पर रोक लगाई गई। स्थानीय उद्योगों को प्रोत्साहित किया जाएगा। गृहमंत्री ने कहा कि मुद्रा योजना के तहत छोटे छोटे उद्योग जो मप्र में चल रहे हैं, उसमें भी केंद्र सरकार के पैकेज से मदद मिल सकती है। msme के तहत भी राहत मिलने की संभावना है। महात्मा गांधी रोजगार गारंटी स्कीम के अंतर्गत मंदिर सरोवर और मंदिर उद्यान बनेंगे।जिनसे लोगों कोफायदा होगा। वहीँ कांग्रेस के घोटाले की जांच के सवाल पर नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि वो जनता कि सेवा करने एवं प्रदेश में कार्य करने के लिए आये हैं, राजनीति करने के लिए नहीं।