इंदौर।
मध्यप्रदेश के विश्वविद्यालयों में एक बार फिर सेमेस्टर प्रणाली लागू होने वाली है। शिक्षा के स्तर को सुधारने के लिए प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने ये फैसला किया है।शनिवार को इंदौर में एक बैठक के दौरान उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने इसका ऐलान करते हुए कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज ने अपने कार्याकाल के दौरान यूनिवर्सिटी में सेमेस्टर सिस्टम को खत्म कर दिया था। लेकिन कमलनाथ सरकार इसे फिर से शुरू करने की तैयारी कर रही है।

दरअसल, शनिवार को उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी देवी अहिल्या विश्वविद्यालय की बैठक में शामिल होने पहुंचे थे। इस दौरान उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने बड़ा फैसला लेते हुए सेमेस्टर सिस्टम फिर से शुरू करने की पहल की है। उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को सुधारने के लिए सरकार इसमें जल्द बदलाव करेगी। उनका कहना है कि वर्तमान शिक्षा पद्धति को देखते हुए फिर से सेमेस्टर सिस्टम लागू करना बेहद जरूरी है। उन्होंने कहा कि फिलहाल विभाग की तैयारियां अंतिम दौर में चल रही है। संभवतः सत्र 2020-21 से बीए, बीकॉम और बीएससी में सेमेस्टर सिस्टम से परीक्षाएं कराई जाएंगी ।क्वालिटी एजुकेशन के अलावा शिक्षा का स्तर सुधारना है जिसके निरंतर प्रयास किए जाएंगे। उसी का एक हिस्सा सेमेस्टर सिस्टम है, जो शिक्षा की बेहतरी के लिए लागू किया जाएगा।

आपको बता दें की पिछली सरकार ने सेमेस्टर सिस्टम को बंद कर दिया था, लेकिन वर्तमान में छात्रों के बिगड़ते रिजल्ट और विभागाध्यक्षों से मिले सुझाव के बाद इसे फिर से शुरू करने का फैसला लिया गया है।