वचन पत्र

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट

चंद दिन सत्ता सुख भोगने के बाद भीतरघात के चलते सरकार गिरा बैठे कमलनाथ अब स्वयं की मैदान संभालेंगे। इसके लिए वह लगातार उपचुनाव (By-election) वाली सीटों से संबंधित जिलों के पार्टी पदाधिकारियों के साथ बैठक कर चुनावी तैयारियों में जुट गए हैं। उन्होंने कहा कि अब वह जिला पदाधिकारियों को भोपाल नहीं बुलाएंगे बल्कि खुद ही जिलों में आकर बूथ और सेक्टर लेवल के कार्यकर्ताओं से सीधे संवाद करेंगे।

नाथ ने अपने निवास पर भिंड और दतिया जिले के पदाधिकारियों के साथ बैठक कर उपचुनाव की तैयारियों और संगठन के कामकाज का फीडबैक लिया। उन्होंने पदाधिकारियों से कहा कि वह बूथ लेवल पर सबसे ज्यादा ध्यान दें पार्टी कार्यकर्ता पूरी ताकत के साथ प्रचार करें और कांग्रेस सरकार की जनहितेषी योजनाएं जनता को बताए। भिंड के कांग्रेस जिलाध्यक्ष जयश्रीराम बघेल ने बताया कि पीसीसी चीफ के निर्देशानुसार जिले में कार्यकारिणी का गठन कर लिया गया है, इसमें सभी वर्गों को जगह दी गई है। जिले की दोनों सीटों पर बूथ लेवल तक कार्यकर्ता तैनात कर दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि भिंड जिले से कांग्रेस का एक भी कार्यकर्ता भाजपा में नहीं जा रहा है।

प्रत्याशी चयन को लेकर चुप्पी
पीसीसी चीफ कमलनाथ उपचुनाव की तैयारियों में लगातार प​दाधिकारियों से मिल रहे है। बैठकों में संगठन को मजबूत करने कांग्रेस सरकार की योजनाओं के प्रचार-प्रसार आदि को लेकर चर्चा की गई। लेकिन कहीं भी अभी प्रत्याशियों चयन को लेकर चर्चा नहीं हुई। सूत्रों का कहना है कि कमलनाथ ने पहली ही बैठक में पदाधिकारियों को स्पष्ट कर दिया था कि वह सिर्फ चुनाव की तैयारियों पर चर्चा करेंगे, बैठकों में प्रत्याशी चयन को लेकर कोई चर्चा नहीं की जाएगी।