भोपाल।

हमेशा अपने बयानों से सुर्खियां में रहने वाली भोपाल सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर एक बार फिर चर्चाओं में है। खबर है कि साध्वी प्रज्ञा के लिए सरकार कलेक्टर कार्यालय में लिफ्ट लगाने जा रही है । बताया जा रहा है कि साध्वी के स्वास्थ्य और उन्हें सीढ़ीयां चढ़ने में होने वाली परेशानी को देखते हुए ये फैसला लिया गया है।प्रभारी मंत्री गोविंद सिंह ने खुद इस बात के संकेत दिए है।

दरअसल, सात नवंबर को भोपाल के मास्टर प्लान को लेकर होने वाली जिला योजना समिति की बैठक इस बार कलेक्टर दफ्तर की जगह जिला पंचायत दफ्तर में बुलाई गई है। पिछली बार बैठक में कलेक्टर दफ्तर की सीढ़ीयां नही चढ़ पाने के कारण भोपाल सांसद शामिल नही हुई थी। भोपाल के प्रभारी मंत्री गोविंद सिंह का कहना है कि लिफ्ट लगने से न केवल सांसद महोदया को बल्कि कलेक्टर कार्यालय आने वाले सभी दिव्यांगों को भी सुविधा होगी। लिफ्ट लगाए जाने की लागत करीब 25 लाख होगी।

वही जियोस में आने वाले सुझावों के आधार पर मास्टर प्लान के ड्राफ्ट को अंतिम रूप दिया जाएगा। हैदराबाद के नेशनल रिमोट सेंसिंग सेंटर और अहमदाबाद की सेप्ट यूनिवर्सिटी की मदद से तैयार किए जा रहे मास्टर प्लान में इस समय जीआईएस मैप की लेयर पर काम चल रहा है। मास्टर प्लान में शामिल किए जाने वाले हर मैप की 64 लेयर होगी। ऑनलाइन उपलब्ध रहने वाले इस प्लान में अस्पताल, स्कूल, कॉलेज, पानी की पाइप लाइन, सीवेज लाइन आदि के लिए अलग लिंक रहेगा। जमीन का कोई भी खसरा नंबर डालने पर नंबर से संबंधित जमीन की जानकारी सामने आ जाएगी।  केंद्र सरकार के अमृत प्रोजेक्ट के तहत हाल ही में ओंकारेश्वर का जीआईएस मास्टर प्लान ड्राफ्ट जारी किया गया है। बड़े शहरों में भोपाल मप्र का पहला शहर होगा जहां इस तरह का मास्टर प्लान बनाया जा रहा है।