अब हाईपावर कमेटी करेगी राजगढ़ कलेक्टर के थप्पड़-कांड की जांच

भोपाल।
एमपी के राजगढ़ में हुए थप्पड़कांड पर गर्माई सियासत के बाद सरकार ने एक हाइपावर कमेठी गठित करने का फैसला किया है। इसमें एक आईएएस और एक आईपीएस अधिकारी को शामिल किया गया है। आईएएस अधिकारी और नगरीय प्रशासन विभाग के प्रमुख सचिव संजय दुबे और आईपीएस अधिकारी एडीजी उपेंद्र जैन को जांच का जिम्मा दिया गया है। ये हाईपावर कमेटी थप्पड़ कांड की जांच के लिए अपनी रिपोर्ट सीएम कमलनाथ को देगी।

दरअसल, सरकार ने पुलिस और प्रशासन की अलग-अलग रिपोर्ट मिलने के बाद वरिष्ठ अफसरों की कमेटी से इस मामले की जांच का निर्णय लिया है।पहली रिपोर्ट डीजीपी वी के सिंह ने गृह विभाग को भेजी थी, इसमें राजगढ़ एसडीओपी से जांच कराई गई थी। जांच में कलेक्टर पर एएसआई को थप्पड़ मारने के आरोप सही पाए गए थे। दूसरी जांच राजगढ़ एडीएम ने की थी इसमें थप्पड़ का जिक्र ही नहीं था। यह कमेटी आदेश मिलने के 3 दिन में सरकार को रिपोर्ट सौंपेगी। बुधवार को आदेश जारी होने के बाद संभवत: गुरुवार को दोनों अफसर राजगढ़ जाकर मामले से जुड़े पहलुओं की जांच करेंगे। कमेटी सिर्फ एएसआई थप्पड़ केस मामले में ही जांच करेगी। संभावना जताई जा रही है कमेटी शनिवार रात तक अपनी रिपोर्ट दे देगी।अगर जांच में कलेक्टर दोषी पायी जाती हैं तो फिर उनके खिलाफ कार्रवाई भी हो सकती है।

दरअसल, बीते दिनों एएसआई नरेश शर्मा की ड्यूटी बीजेपी द्वारा सीएए के समर्थन में निकाली गई रैली में लगाई गई थी। विभाग से जारी आदेश के अनुसार नरेश शर्मा ब्यावरा में वैष्णो देवी मंदिर के सामने गाड़ी में बैठकर रैली की रिकॉर्डिंग कर रहे थे। इसी दौरान वहां लगभग 1.30 बजे कलेक्टर निधि निवेदिता वहां पहुंची और रैली को लेकर पूछताछ करने लगी। फिर अचानक निधि निवेदिता, नरेश शर्मा पर तमक पड़ी और एक तमाचा रसीद कर दिया।इसकी शिकायत एएसआई ने 19 जनवरी को डीजीपी से की थी।जांच में शिकायत सही पाई गई।इसके बाद यह जांच रिपोर्ट पुलिस मुख्यालय भेजी गई थी।डीजीपी वीके सिंह ने गृह विभाग के प्रमुख सचिव को पत्र लिखकर यह जानकारी दी। डीजीपी ने लिखा है कि कलेक्टर के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए।इस पर गृहमंत्री ने जांच का आश्वसन दिया था।

लॉ एंड आर्डर के दौरान मारा गया था थप्पड़
इसके बाद राजगढ़ कलेक्टर के थप्पड़ कांड को लेकर डीजीपी द्वारा गृह विभाग के प्रमुख सचिव को पत्र लिखे जाने पर PHQ प्रवक्ता आशुतोष प्रताप सिंह का बयान आया था। आशुतोष का कहना था कि19 जनवरी को ASI को थप्पड़ मारने की SP से शिकायत की गई थी।ASI की शिकायत पर कराई मामले की जांच की गई।जांच के बाद शिकायत की पुष्टि होने पर कार्रवाई के लिये पत्र लिखा गया है। गृह विभाग को पत्र लिखकर कलेक्टर राजगढ़ निधि निवेदिता पर कार्रवाई करने को कहा है।उन्होंने कहा कि लॉ एंड आर्डर के दौरान ASI को थप्पड़ मारा गया था।