तड़पती प्रसूता से बोली नर्स- ”5 हजार रुपए दे दो, अभी हो जाएगा ब्लड का इंतजाम”

भोपाल/राजगढ़।

प्रदेश में भ्रष्टाचार इस कदर हावी है कि बिना रिश्वत के कोई काम नही करता। फिर चाहे वो अधिकारी हो, पटवारी हो या अस्पताल की नर्स।ताजा मामला मध्यप्रदेश की राजधानी से सामने आया है। यहां एक प्रसूता को ब्लड चढ़ाने के लिए नर्स ने उससे पांच हजार रुपए की मांग की और ना देने पर वह रातभर अस्पताल के स्टोर रूम में बैठी रही। पति ने जब इसको लेकर हंगामा किया तो डॉक्टर, नर्स व अन्य कर्मचारियों ने उसे बाहर कर दिया और गार्डों ने उसके साथ मारपीट कर दी। फिलहाल तलैया थाने में मामला दर्ज किया गया है।

दरअसल, राजगढ़ जिले के ब्यावरा निवासी रामबाबू वर्मा की पत्नी सौरभ बाई वर्मा को राजगढ़ के जिला अस्पताल में दो दिन पहले सीजेरियन प्रसव हुआ था। इससे उनके शरीर मे खून की कमी हो गई थी। राजगढ़ के चिकित्सकों ने उसे सुल्तानिया अस्पताल रेफर कर दिया। गुरुवार रात 12 बजे एंबुलेंस से वह सुल्तानिया अस्पताल पहुंचे।डॉक्टरों ने भर्ती कर लिया, लेकिन ब्लड देने के लिए उनके साथ कोई नहीं था। 

एक नर्स ने कहा कि 5 हजार रुपए दे दो तो अभी ब्लड का इंतजाम हो जाएगा या फिर खुद ब्लड की व्यवस्था करो। पैसे नहीं देने पर उन्हें ब्लड नहीं मिला, इस पर गुस्साए रामबाबू ने हंगामा कर दिया और प्रबंधन से शिकायत की लेकिन कोई सुनवाई नही हुई । इसके बाद डॉक्टर, नर्स व अन्य कर्मचारियों ने उसे अस्पताल से बाहर करने कहा तो चार गार्डों ने रामबाबू के साथ मारपीट कर दी। महिला अपने पति के साथ रातभर अस्पताल के स्टोर रूम में बैठी रही।  रामबाबू की शिकायत पर तलैया पुलिस ने आशुतोष कुमार नामक गार्ड को गिरफ्तार कर लिया है। अस्पताल अधीक्षक डॉ. आईडी चौरसिया को मामला पता चला तो उन्होंने सुबह फिर से महिला को भर्ती कराया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here