विधानसभा सत्र के दौरान अब विदेश यात्रा नहीं कर सकेंगे अधिकारी

Officers-will-not-be-able-to-travel-abroad-during-the-assembly-session-in-mp

भोपाल।

एमपी में विधानसभा के मानसून सत्र की शुरुआत हो चुकी है।सत्र के पहले दिन दिवंगत सदस्यों को श्रद्धांजलि देने के बाद कार्यवाही मंगलवार के लिए स्थगित कर दी गई।दस जुलाई को बजट पेश किया जाएगा। इस बीच विधानसभा अध्यक्ष एनपी  प्रजापति ने अधिकारियों के सत्र के दौरान विदेश जाने पर पाबंदी लगा दी है। इस संबंध में निर्देश भी जारी कर दिए गए है। बता दे कि यह पहला मौका है जब विधानसभा अध्यक्ष ने इस तरह के निर्देश जारी किए है। 

दरअसल, आज मानसून सत्र के पहले दिन विधानसभा अध्यक्ष नर्मदा प्रसाद प्रजापति ने अधिकारियों के संबंध में कुछ दिशा-निर्देश जारी किए। अध्यक्ष द्वारा अधिकारियों के विधानसभा सत्र के दौरान विदेश यात्रा पर पाबंदी के निर्देश दिए गए। निर्देश के अनुसार, अब विधानसभा सत्र के 15 दिन पहले और विधानसभा सत्र के 15 दिन बाद तक कोई भी अधिकारी विदेश यात्रा पर नही जा सकेंगें। इस निर्देश को ना मनाने और यात्रा करने पर जाने पर विधानसभा की अवमानना के तहत दोषी अधिकारी के तहत कार्यवाही की जा सकती है। निर्देश के तहत अब अधिकारी 10  अगस्त तक देश के बाहर नही जा सकेंगें।

गौरतलब है कि यह मध्यप्रदेश की पंद्रहवीं विधानसभा का तीसरा सत्र है, जो कि आगामी 26 जुलाई तक चलेगा। इस 19 दिवसीय सत्र में कुल 15 बैंठकें होंगी। इस दौरान सदन में विधायकों द्वारा चार हजार 362 सवाल पूछे जाएंगे। बुधवार, 10 जुलाई को वित्त मंत्री तरुण भनोट द्वारा सदन में वर्ष 2019-20 का बजट प्रस्तुत किया जाएगा। इस मानसून सत्र के लिए 4362 प्रश्नों लगाए गए है।इनमें ध्यानाकर्षण की 206, स्थगन प्रस्ताव की 23, अशासकीय संकल्प की 22 तथा शून्यकाल की 47 सूचनाएं मिली हैं।