पुरानी जेल को जमींदोज कर शॉपिंग मॉल बनाने की तैयारी

भोपाल।

भोपाल के अरेरा हिल्स स्थित पुरानी जेल जमींदोज होने की कगार पर है। जहां जेल की अवधि अब तीन बाकी रह गई है। इस पुरानी जेल को री-डेंशीफिकेशन स्कीम के तहत तोड़ा जा रहा है। जिसके लिए हाउसिंग बोर्ड ने टेंडर जारी कर दिए हैं। माना जा रहा है कि मैं जून से पुरानी जेल को तोड़कर उस पर सरकारी भवन शॉपिंग मॉल, कन्वेंशन सेंटर सहित अन्य निर्माण शुरू हो जाएंगे।

दरअसल कुछ खामियों को दूर करने के बाद सरकार ने री-डेंशिफिकेशन के तहत अन्य निर्माण करने की प्रक्रिया को मंजूरी दे दी। जिसके बाद हाउसिंग बोर्ड ने टेंडर जारी कर दिया। बताया जा रहा है कि टेंडर का काम अप्रैल माह तक पूरा हो जाएगा। जिसके बाद मई या जून माह में जेल को तोड़ने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

इस प्रक्रिया के तहत काम करेगी एजेंसियां

बता दे कीजिए परिसर 51.74 एकड़ में फैला हुआ है। जिसमें से 6.49 एकड़ जमीन मंत्रालय के विस्तार को दे दी गई थी। इसके अलावा 10.28 एकड़ जमीन सड़क चौड़ीकरण और 6.49 एकड़ जमीन छोड़ी गई है। जिसके बाद 33.87 एकड़ जमीन है जेल परिसर में बची हुई है। जिसमें इस प्रोजेक्ट के जरिए प्राइवेट बिल्डर 33. 87 एकड़ जमीन में से 13.88 एकड़ जमीन पर जेल मुख्यालय जिला एवं सत्र न्यायालय और सरकारी कार्यालयों के लिए भवन का निर्माण करेगी जबकि बाकी बचे 19 दशमलव 99 एकर जमीन पर बिल्डर या निर्माण एजेंसियां शॉपिंग मॉल, 3 सितारा होटल सहित कन्वेंशन सेंटर का निर्माण करेगी।

प्रोजेक्ट की कुल लागत

बताया जा रहा है कि इस प्रोजेक्ट की कुल लागत 425 करोड़ आंकी गई है। जिसमें से 13.88 एकड़ जमीन पर सरकारी भवन बनेंगे वहीं 19.99 एकड़ जमीन पर निजी निर्माण होंगे। जेल मुख्यालय का निर्माण 1.8 60 एकड़ जमीन में 20 करोड़ की लागत से होगा जबकि जिला एवं सत्र न्यायालय को 9.36 एकड़ जमीन 143 करोड़ की लागत से दी गई है। बताया जा रहा है किसके लिए निर्माण एजेंसियों को 3 साल का समय दिया जाएगा। वहीं जेल परिसर में करीब 1375 पेड़ है जिनको दूसरी जगह पर शिफ्ट किया जाएगा। इन पेड़ों की शिफ्टिंग एवं रखरखाव के लिए 5 करोड़ रुपए दिए जाएंगे।