दिग्विजय सिंह की नर्मदा यात्रा पर ओमप्रकाश शर्मा ने लिखी पुस्तक, यात्रा का सजीव चित्रण

भपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री तथा राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह द्वारा वर्ष 2017-18 में की गई नर्मदा नदी की पैदल परिक्रमा पर आधारित यात्रा संस्मरण पुस्तक “नर्मदा के पथिक”  लेखक तथा दिग्विजय सिंह के निजी सचिव ओमप्रकाश शर्मा द्वारा लिखी गई है। लगभग चार सौ पृष्ठों की इस वृहद् पुस्तक में नर्मदा किनारे की लोक-संस्कृति की अद्भुत झाँकी प्रस्तुत की गई है।

CA की परीक्षा में मुरैना की नंदनी ने किया टॉप, भाई ने भी 18 वी रैंक हासिल की

खान-पान, बोली-बानी, रहन-सहन, धर्म-अध्यात्म, पेड़-पौधे..लेखक ओमप्रकाश शर्मा ने इस किताब में नर्मदा किनारे का ऐसा सजीव चित्रण किया है कि इसको पढ़ते हुए पाठक स्वयं भी नर्मदा की कठिन परिक्रमा मानसिक रूप से कर लेता है। छह माह और दस दिन में संपन्न, दुर्गम पथ से की गई परिक्रमा का एक साक्षी दस्तावेज़ है यह किताब। यह पुस्तक अमेज़न पर प्री बुकिंग में उपलब्ध हो चुकी है। इच्छुक पाठक अमेज़न पर जाकर प्री बुकिंग में अपनी प्रति बुक करवा सकते हैं। प्री बुकिंग करने वाले सभी पाठकों को दिग्विजय सिंह द्वारा हस्ताक्षरित प्रति भेजी जाएगी। पुस्तक की प्रस्तावना में दिग्विजय सिंह लिखते हैं “यह पुस्तक सिर्फ एक यात्रा वृत्तांत ही नहीं बल्कि एक ऐसा साक्षी दस्तावेज़ भी है जिसमें नर्मदा के तट पर बसने वाले लोगों के जीवन, धर्म, सामाजिक रीति-रिवाज, परंपराएँ, मान्यताएँ, उत्सवों और त्योहारों से जुड़े सभी पहलुओं का अद्भुत समावेश किया गया है।”