सिख समुदाय की शिकायत पर मुख्यमंत्री शिवराज का तत्काल स्पॉट पर ही एक्शन

Bhopal Hamidia Gurudwara : मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के हमीदिया रोड स्थित गुरुद्वारे में मत्था टेकने पहुंचे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मौके पर ही एक बड़ी कार्रवाई के आदेश दे दिए, दरअसल गुरुद्वारे के पास ही राजपूत बार और होटल है जहां देर रात तक शराबियों का जमावड़ा रहता है, रोजाना गुरुद्वारे मत्था टेकने आने वाले श्रद्धालुओं को कई बार होटल के बाहर खड़े तत्वों के कारण परेशानी का सामना करना पड़ता था सोमवार को मुख्यमंत्री जब इस गुरुद्वारे में आयोजित धार्मिक आयोजन में शामिल होने पहुंचे तो सिख संगत ने उनसे इस बार को बंद करन का आग्रह किया जिसके बाद मौके पर ही सीएम शिवराज ने फौरन बार बंद करने के अधिकारियों को आदेश दिए। कुछ देर बाद ही इस बार और होटल को सील करने की कार्रवाई करने प्रशासन का अमला पहुंचा।

 

“वीर बाल दिवस”

गौरतलब है कि  देश आज पहला “वीर बाल दिवस” मना रहा है, मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार ने इस अवसर पर एक बड़ा फैसला लिया है, मध्य प्रदेश सरकार इसे सप्ताह के रूप में मनाएगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज इस अवसर पर भोपाल के हमीदिया रोड गुरुद्वारा नानकसर में मत्था टेकने के बाद ये घोषणा की। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सचमुच में आज का दिन असली वीर बाल दिवस है। इसलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तय किया और मध्य प्रदेश में हमने भी तय किया कि 21 से लेकर 26 जनवरी तक हर साल “वीर बाल दिवस” मनाया जायेगा उन्होंने कहा कि सचमुच में सच्चा वीर बाल दिवस आज ही है। बचपन से मैंने एक शहादत की ​कविता पढ़ी थी, छोटे साहबजादों की शहादत। उन्होंने सिद्धांतों से कभी समझौता नहीं किया। कभी भी डर और भय उनके चेहरे पर नहीं आया ।

सीएम शिवराज ने कहा कि गुरु गोविंद सिंह जी ने देश और पंथ की रक्षा के खातिर अपना सर्वोच्च बलिदान दिया। उनके चारों साहिबजादों ने भी देश के लिए अपनी शहादत दी। ऐसी शहादत विश्व के इतिहास में आज तक नहीं दी गई। उसी शहादत को प्रणाम करने के लिए “वीर बाल दिवस” के रूप में पूरा सप्ताह मनाने का फैसला सरकार ने किया है। साहिबजादों का सर्वोच्च बलिदान हम सबको प्रेरणा देता रहेगा। कैसे इसका स्वरूप हम लोग और बेहतर करें, ताकि हर एक के मन में देश के प्रति, धर्म के प्रति एक प्रेरणा और जग सके, उसके लिए सरकार कदम उठाती रहेगी।

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 9 जनवरी 2022 को गुरु गोबिंद सिंह (Guru Gobind Singh) की जयंती पर 26 दिसंबर के दिन “वीर बाल दिवस” मनाने की घोषणा की थी। उन्होंने कहा था कि गुरु गोबिंद सिंह जी के छोटे साहिबजादों बाबा जोरावर सिंह और बाबा फतेह सिंह के शहादत दिवस को “वीर बाल दिवस” के रूप में मनाने का फैसला लिया गया है। उसी फैसले के तहत आज देश में “वीर बाल दिवस” मनाया जा रहा है।