नाथ के दावे के बाद भार्गव का चैलेंज- ”अगर ऐसा हुआ तो ले लूंगा राजनीति से संन्यास”

भोपाल। किसानों को लेकर आज बीजेपी ने प्रदेशभर में प्रदर्शन किया और बिजली बिलों की होली जलाई। इस दौरान बीजेपी के दिग्गज नेताओं ने अलग अलग जिलों में सभाएं की और सरकार पर जमकर हमला बोला। इस दौरान भोपाल में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने सरकार को चुनौती दे डाली । भार्गव ने कहा कि कांग्रेस की सरकार अल्पमत की सरकार थी, है और रहेगी। अभी चुनाव करवा लो 230 में से 30 सीट भी कांग्रेस की आ जाएं तो मैं राजनीति से सन्यास ले लूंगा। 

खास बात ये है कि भार्गव का बयान उस समय आया है जब विस अध्यक्ष द्वारा बीजेपी विधायक की सदस्यता शून्य कर दी गई है और मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आने वाले दिनों में तीन चार और सीटे आने का दावा किया है। भार्गव के बयान के बाद एक बार फिर सियासी पारा गर्म हो चला है।हालांकि अभी कांग्रेस की तरफ से कोई प्रतिक्रिया सामने नही आई है।

जब भार्गव सभा को संबोधित कर रहे थे तभी लाइट भी चली गई। इस पर भार्गव ने सरकार को जमकर घेरा और कहा कि बिजली गुल होने से ऐसा हुआ है। देख लो वक्त है बदलाव का। उन्होंने आगे कहा कि वीर तो शिवराज सिंह चौहान थे। तीन साल पहले जब सूखा पड़ा था तब उन्होंने 3800 करोड़ मध्यप्रदेश के कोटे से बांटे थे। कांग्रेसी बोलते थे कि हम वीर हैं, अब कहां गए वो वीर।किसानों को अब तक एक रुपए की राहत राशि नहीं मिली है और न ही बेरोजगारी भत्ता मिला है।  

शिवराज का बचाव, पटवारी को नसीहत

गोपाल भार्गव ने कैबिनेट मंत्री जीतू पटवारी के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज को चुल्लू भर पानी में डूब मरने के बयान पर नाराजगी जताई और कहा कि पटवारी नए विधायक और नए मंत्री हैं। शिवराज जी 13 साल मुख्यमंत्री रहे हैं। ऐसे में पटवारी सभ्यता का परिचय दें।