मां शारदा देवी मंदिर में पुनः प्राण प्रतिष्ठा, पूजन में शामिल हुए जनसम्पर्क आयुक्त

p-narhari-worship-in-sharda-devi-temple-of-telugu-parishad

भोपाल| तेलुगु सांस्कृतिक परिषद द्वारा लिंक रोड नंबर 2 शिवाजी नगर स्थित परिषद प्रांगण, शारदा देवी नवीन मंदिर में 13 से 16 जून तक पुन: प्राण-प्रतिष्ठा महोत्सव आयोजित किया गया है। मां शारदा मंदिर में हवन पूजन में जनसंपर्क आयुक्त पी नरहरि शामिल हुए| उन्होने विधि विधान से धर्मपत्नी के साथ पूजन किया| मीडिया से चर्चा में जनसंपर्क आयुक्त पी नरहरि ने बताया कि तेलुगु संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए 40 साल पहले तत्कालीन वरिष्ठ अधिकारियों एवं आंध्रप्रदेश और तेलंगाना से आये हुए लोगों ने मां शारदा मंदिर का निर्माण कराया था, मंदिर के लिए मध्य प्रदेश शासन ने भूमि उपलब्ध कराई है| अब इस मंदिर का पुनः निर्माण कराया जा रहा है| नरहरि ने पुन: प्रतिष्ठा समारोह के आगामी कार्यक्रमों के बारे में जानकारी दी| उन्होंने कहा इस धार्मिक कार्यक्रम से मध्य प्रदेश के सभी लोगों के जीवन में सुख शांति आये और प्रदेश में अच्छी बारिश हो ऐसी प्रार्थना है| 

तेलुगु सांस्कृतिक परिषद के लिंक रोड नंबर 2 शिवाजी नगर स्थित शारदा देवी मंदिर का गुरुवार शाम शुभ मुहूर्त में पुन: प्रतिष्ठा समारोह प्रारंभ हुआ। दक्षिण भारतीय भक्ति संगीत व मंत्रोच्चार के बीच पंडितों द्वारा अखंड दीप स्थापना, अंकुरारोपण व भगवत प्रार्थना के साथ ही विश्वसेन आराधना भी की गई। शुक्रवार को पुण्याहम, वास्तु पूजा समेत कई अन्य विधान होंगे। कलश शोभायात्रा भी निकाली जाएगी। शाम को अग्नि मंथन के बाद हवन होगा। चार दिवसीय समारोह के लिए मंदिर को आकृषक रूप से सजाया गया है। वर्ष 1980 में बने इस मंदिर का नवीनीकरण कर इसे दक्षिण भारत के शृंगेरी मंदिर की शैली में निर्मित किया है। मां शारदा देवी की प्रतिमा की नए मंदिर में पुन: प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी।      

16 जून को बिंब स्थापना : 

शुक्रवार को सुबह 6.30 बजे से पुण्याहम, मृत्यगृहणम्, पंचगव्यप्राशन, ऋत्विग्वरुण वास्तु पूजा व होम अनुष्ठान के बाद शाम 4 बजे से प्रार्थना, सूक्तपाठ होंगे। शाम 7 बजे से सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे। इसमें पेरिनि लास्यम शिव तांडव व भक्ति विभावरी की प्रस्तुति दी जाएगी। समापन 16 जून को बिंब स्थापना व महाकुंभाभिषेकम् के साथ होगा। 

कल होंगे यह कार्यक्रम 

शनिवार सुबह 6 बजे से सेनापति पूजा, अभिषेक होंगे। शाम 4 बजे से प्रभूतबलि प्रदानम, शाल पूजा, महाशांति होम्स व कुंभ अधिवसम होगा। मुख्य अतिथि अभिनेता नट किरीटि डाॅ. राजेंद्र प्रसाद होंगे। रिंग डांस, डॉल शो व संगीत विभावरी का आयोजन होगा। रविवार को विश्वसेन आराधना, यंत्र पूजा, बिंब स्थापन, महा पूर्णाहुति आदि कार्यक्रम होंगे। 16 जून को पुनःप्राण प्रतिष्ठा शुरू होगी। सुबह 5 से 1 बजे के बीच बिंब स्थापन, महा पूर्णाहुति, महा कुम्भाभिषेकम्‌, बिंबदर्शनम व महाप्रसादम्‌ होगा।