पन्ना कलेक्टर ने ‘जगन्नाथ यात्रा’ पर लगाई रोक, शिवराज बोले-परंपरा टूटने नहीं देंगे

भोपाल। पन्ना कलेक्टर (Panna Collector) के जगन्नाथ यात्रा (Jagannath Yatra) पर रोक लगाने सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) का बड़ा बयान सामने आया है। शिवराज का कहना है कि यात्रा की परंपरा जारी रहेगी, परंपरा को टूटने नहीं दिया जाएगा। जगन्नाथ यात्रा परंपरागत रूप से सैकड़ों वर्षो से निकल रही है, लेकिन आज कोरोना का संकट काल है, भीड़ इकट्ठी ना हो यह बिल्कुल सही है, हमको ध्यान रखना चाहिए कि कोरोना का संक्रमण ना फैले, उसको ध्यान में रखते हुए भी परंपरा को टूटने नहीं दिया जाएगा। सीमित संख्या में जिसकी प्रशासन अनुमति देगा, परंपरा जारी रहेगी।

दरअसल, हर साल उड़ीसा की तर्ज पर एमपी के पन्ना जिले में जगन्नाथ की भव्य रथ यात्रा निकाली जाती है।  लेकिन इस पर कोरोना संकटकाल को देखते हुए पन्ना कलेक्टर ने इस पर रोक लगा दी है। पन्ना कलेक्टर ने आदेश जारी करते हुए कहा है कि कोरोना के चलते रथ यात्रा को स्थगित करने फैसला लिया है, इस बार लोग अपने घरों में ही भगवान की पूजा करें। भगवान जगन्नाथ भक्तों की हर मनोकामना पूरी करेंगे।जिसके बाद मुख्यमंत्री शिवराज ने बयान देकर कहा कि परंपरा को निभाया जाएगा।

बता दे कि सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने उडीसा के पुरी में भगवान जगन्नाथ की यात्रा निकालने की अनुमति दे दी है। जिसके बाद पुरी में आज परंपराओं के साथ यात्रा निकाली जा रही है।। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक 500 से अधिक लोगों को रथ खींचने की अनुमति नहीं दी जाएगी। रथयात्रा के दौरान पुरी (Puri Rath Yatra) शहर में सोमवार की रात आठ बजे से कफ्र्यू लागू रहेगा। इस दौरान लोग अपने घरों में ही रहंगे। रथयात्रा की से पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह ने देशवासियों को शुभकामनाएं दी।