पटवारी काउंसलिंग फर्जीवाड़ा: सीएम हाऊस घेरेंगे उम्मीदवार, करेंगे विरोध प्रदर्शन

भोपाल। मध्यप्रदेश में चल रहे पटवारी काउंसलिंग घोटाले के खिलाफ PEB PASS वेटिंग पटवारी अब सड़कों पर उतरने की तैयारी कर रहे हैं। इससे पहले उम्मीदवारों ने कई बार सरकार के सामने विनम्रता पूर्वक अपनी बात रखने की कोशिश की। उम्मीदवारों का दावा है कि काउंसलिंग के नाम पर भर्ती घोटाला हो रहा है। सब कुछ खुलेआम हो रहा है इसके बावजूद कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है। इसलिए मजबूर होकर PEB PASS वेटिंग पटवारी मुख्यमंत्री निवास का घेराव करने आ रहे हैं। राजधानी भोपाल के पॉलिटेक्निक कॉलेज में सभी पटवारी परीक्षा उम्मीदवार जमा होंगे और सीएम हाऊस तक जाएंगे। 

दरअसल, प्रदेश भर के सभी पटवारी  पालिटेक्निक कालेज के पास सुबह आठ बजे इकट्ठा होंगे और 9 बजे सी.एम हाऊस पहुंचेंगे। 15 जनवरी 2020 को 7वीं काउंसलिंग होने जा रही है इसमें आयुक्त ज्ञानेश्वर पाटिल द्वारा मीडिया को 450 पद रिक्त बताए गए हैं। जब प्रथम काउंसलिंग के बाद 1400 के करीब पद खाली थे ऐसा बयान उस समय के आयुक्त सेल्वेंद्रन द्वारा दिया गया था तो अभी तक वेटिंग में से केवल 100 लोगों को लिया गया है फिर पद 1400 से 450 पर कैसे आ गए बीच में किन्हे भर लिया?

काउंसलिंग का डाटा ऑनलाइन विभाग की वेबसाइट पर क्यों नहीं डाला जा रहा। 10 फरवरी 2020 वेटिंग सूची की लास्ट डेट है। अगर विभाग ऐसे ही सिर्फ अपग्रेड करता रहेगा और वेटिंग में से हर काउंसलिंग में सिर्फ 20 लोगों को ही लेता रहेगा तो वेटिंग लिस्ट की वैधता समाप्त हो जाएगी और पद भी पूरे नहीं भर पाएंगे। 1400 पदों को दबाने और पूरा वेटिंग सूची का समय अपग्रेड में निकाल देना एक बहुत बड़े भ्रष्टाचार की ओर इशारा कर रहा है। इस सब के विरोध में 13 जनवरी की सुबह 9 बजे प्रदेश भर के सभी प्रतीक्षारत पटवारी अभ्यथी मुख्यमंत्री कमलनाथ को ज्ञापन देने और राजस्व मंत्री के बंगले का घेराव करने भोपाल पहुंचेंगे।