PC शर्मा बोले- गोंडी भाषा की लिपि को संरक्षित करेगी सरकार, महंगी बिजली को लेकर कही ये बात

pc-sharma-statement

भोपाल।

‘विश्व आदिवासी दिवस’ पर कमलनाथ सरकार द्वारा सार्वजनिक अवकाश घोषित किया गया है। सरकार द्वारा प्रदेशभर में कार्यक्रम किए जा रहे है। मुख्यमंत्री कमलनाथ खुद झाबुआ और छिंदवाड़ा के कार्यक्रमों मे शामिल होंगें। वही भोपाल में जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने आदिवासियों को लेकर कई महत्वपूर्ण बाते कही। शर्मा ने गोंडी भाषा की लिपी को संरक्षित करने की बात कही। शर्मा ने कहा कि गोंडी भाषा की लिपि को संरक्षित करने के आदेश मुख्यमंत्री कमलनाथ ने दिए है, जल्द ही इस ओर काम किया जाएगा।

दरअसल, आज आदिवासी दिवस के अवसर के जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने पत्रकारवार्ता आयोजित की और कहा किआदिवासी समाज के वजह से ही जंगल बचा है।   आज के ही दिन महात्मा गांधी ने अंग्रेजों भारत छोड़ो आंदोलन की शुरूआत की थी, पिछले 70 सालों में आदिवासियों के बारे में कुछ नहीं किया गया। मध्यप्रदेश में 6 जिलों में 50 फ़ीसदी से ज्यादा आदिवासी रहते है। प्रदेश में आदिवासी युवाओ के लिए होस्टल खोले गए है।   गोंडी भाषा की लिपि को संरक्षित करने के आदेश मुख्यमंत्री कमलनाथ ने दिए है।वही उन्होंने बताया कि तीर्थ दर्शन योजना के तहत ट्रेन चलाने का फैसला भी हमारी सरकार ने लिया है।

महिला सुरक्षा पहली प्राथमिकता

वही शर्मा ने गुमटियों को हटाने को लेकर कहा कि कांग्रेस सरकार के लिए महिला सुरक्षा  पहली प्राथमिकता है।गुमटी वाले गरीब है इनका कही न कही व्यवस्थापन होना चाहिए लेकिन ऐसे जगह नही जहां से लड़कियों का आना जाना है। मै कलेक्टर ओर निगम कमीशनर से बात करूंगा। गुमटियों का व्यवस्थापन सही जगह हो ,जहां आम जनता को परेशानी न हो।वही प्रशासन पर प्रेशर को लेकर कहा कि प्रशासन पर कोई प्रेशर नही है, सरकार अपने वचनों को पूरा कर रही है।

बिजली के दामों में सात प्रतिशत बढोत्तरी पर बोले

बिजली के बढ़े हुए दामों को लेकर शर्मा ने कहा कि बीते 15 सालों में जो परिस्थितियां रही हैं, ये उसका परिणाम है। पिछले दिनों देखा गया था कि ट्रांसफार्मर, लाइन सब फेल हो रही थी। मंत्री ने कहा कि नियामक आयोग ने बिजली की नई दरों को तय किया है। बिजली कंपनियों ने राज्य नियामक आयोग से 12 प्रतिशत वृद्धि की मांग की थी। लेकिन आयोग ने अधिकतम सात प्रतिशत दरें बढ़ाने को ही मंजूरी दी है। वहीं सरकार ने इस वृद्दि में किसानों और आम जनता का ख्याल रखा है। बिजली के नए टैरिफ में किसानों को बड़ी राहत दी गई है। अब 10 हॉर्स पॉवर तक के फ्लैट रेट पर किसानों को मात्र 700 रुपये प्रति हॉर्स पॉवर की दर से बिल देना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here