पीसी शर्मा का बयान- वादे किए है पूरे, हर एक वर्ग कांग्रेस को देगा वोट, 29 सीटों पर मिलेगी जीत

PC-Sharma's-statement--vote-for-Congress

भोपाल।

विधानसभा जीत के बाद लोकसभा चुनाव को लेकर एमपी कांग्रेस की तैयारियां जोरों पर है। इस बार कांग्रेस विन 29 मिशन को लेकर चल रही है। इसी के चलते आज शनिवार को दिल्ली में स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक बुलाई गई है। इस बैठक में शामिल होने मुख्यमंत्री कमलनाथ भी सर्वे लिस्ट अपने साथ लेकर पहुंचे है। इसी बीच कमलनाथ सरकार के मंत्री का बड़ा बयान सामने आया है। कानून मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस 29 की 29 सीटों पर जीत हासिल करेंगी।प्रदेश का हर वर्ग कांग्रेस को वोट करेगा। कमलनाथ सरकार ने 52 दिनों में 26 वादे पूरे किए है।

शर्मा ने कहा कि  बैठक में जीतने वाले कैंडिडेट पर चर्चा की जाएगी। प्रदेश में इस वक्त कांग्रेस की लहर है और लोग बदलाव चाहते है। वचन पत्र में जो बातें सीएम कमलनाथ ने कही थी उन्हें पूरा किया है। कर्जमाफी, कन्यादान की राशि बढ़ाना, कर्मचारियों का डीए बढाना , पुलिसकर्मिय़ों को वीकली ऑफ, पेंशन में बढोत्तरी और बेरोजगारों को भत्ता जैसे तमाम वादे कमलनाथ सरकार ने पूरे किए है।हमारी सरकार ने 52 दिनों में 26 वादे पूरे किए है । हर एक वर्ग को खुश किया है तो ऐसे में सवाल ही नही उठता कि वह लोकसभा चुनाव में कन्ग्रेस को वोट नही करेगा। हर वर्ग कांग्रेस को वोट देगा तो 29 में से 29 सीटे मप्र में आएगी। 

इधर, कहा जा रहा है कि बैठक में पार्टी उम्मीदवारों के चयन को लेकर ठोस रणनीति भी तय करेगी।  बैठक में प्रदेश की उन सीटों पर भी चर्चा की जाएगी जहां कांग्रेस 1989 के बाद नहीं जीती है। ऐसी सीटों पर पार्टी द्वारा नए चेहरों को भी मौका देने पर विचार किया जाएगा।इसके अलावा पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी और मुख्यमंत्री कमलनाथ सभी सीटों पर पहले ही सर्वे करना चुके है। सर्वे में आए संभावित नाम गुप्त रखे हुए है जो कमलनाथ आज दिल्ली लेकर रवाना हुए है।इनको सर्वे के नामों से मैच किया जाएगा। इसके बाद मार्च के दूसरे हफ्ते में प्रत्याशियों की लिस्ट जारी की जाएगी, ताकी उम्मीदवारों को संसदीय क्षेत्र में प्रचार करने का पूरा मौका मिले।

विधानसभा मे जनता के सवाल पूछने पर क्या बोले

विधानसभा में जनता के सरकार से सवाल पूछने पर पीसी शर्मा ने कहा कि यह पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के मुख्यमंत्री प्रहर की तर्ज पर होगा, जिसमें जनता सवाल पूछेगी और मंत्री जवाब देंगें। यह पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के मुख्यमंत्री प्रहर की तर्ज पर होगा। जो सवाल विधायक उठाता है उसका जवाब जनता को वही मिल जाता था। मुख्यमंत्री जवाब से नियम बन जाता था और कार्यवाही शुरू हो जाती थी। जब उमा भारती मुख्यमंत्री बनी थी तो ये नियम बंद कर दिया गया था, जिसे प्रदेश की कमलनाथ सरकार फिर से शुरु करने जा रही है।  विधानसभा में जनता के सवाल पूछने पर मोहर लग गई है, जल्द ही इसे कैबिनेट मे रख हरी झंड़ी दी जाएगी।वही इस्लामिक लोगो द्वारा किए जा रहे वंदे मातरम गान को लेकर पीसी ने कहा कि देश का गान है और इस गान पर सब को अधिकार है। इस्लामिक लोगो बधाई देना चाहता हूं कि वे वंदे मातरम गान कर रहे है।