देश में सबसे महंगा MP में पेट्रोल, कांग्रेस बोली-शिवराज जी, आपदा में इतना बड़ा अवसर

भोपाल।

कोरोना संकटकाल (Corona crisis) के बीच मंहगाई की दोहरी मार पड़ रही है। हर दिन पेट्रोल और डीजल (Petrol and diesel) के दाम में बढ़ोतरी हो रही है, जिसके चलते आदमी की जेब पर बोझ बढने लगा है और बजट गड़बड़ा रहा है।सबसे ज्यादा असर मध्यप्रदेश पर पड़ रहा है। एमपी (mp) में अन्य राज्यों की तुलना में पेट्रोल ज्यादा मंहगा मिल रहा है।यहां विभिन्न जिलों में पेट्रोल का दाम 87.71 से लेकर 89.45 रुपये तक है। अनूपपुर में देश का सबसे महंगा पेट्रोल 89.45 रुपए प्रति लीटर बिक रहा है। वहीं, भोपालवासी 87.71 रुपये प्रति लीटर पेट्रोल और डीजल 78.98 रुपये प्रतिलीटर मिल रहा है।इधर कांग्रेस ने कोरोना संकटकाल में सरकार के इस कदम को अवसर करार दिया है।

दरअसल, अप्रैल और मई के महीने में भोपाल में पेट्रोल 77 रुपये प्रति लीटर और डीजल 68 रुपये प्रति लीटर के आसपास बिका था।लेकिन पेट्रोल की कीमत में 23 जून को प्रति लीटर 20 पैसे और डीजल में 52 पैसे की बढ़ोतरी हुई। इसके बाद यहां पेट्रोल 87 रुपए 39 पैसे और डीजल 78.87 पैसे प्रति लीटर के हिसाब से बिकने लगा है भोपाल में एक से छह जून तक पेट्रोल डीजल के दाम में बढ़ोतरी-घटोतरी का क्रम जारी रहा, लेकिन छह जून के बाद से हर दिन पेट्रोल-डीजल के दाम में बढ़ोतरी हुई है। छह जून से 22 जून तक पेट्रोल में 10.67 तो डीजल में 10.12 रुपये प्रति लीटर तक की बढ़ोतरी हुई है।

उपचुनाव से पहले इस बेतहाशा बढ़ोत्तरी को लेकर एमपी कांग्रेस ने प्रदेश की शिवराज सरकार को सड़क से लेकर सोशल मीडिया तक घेर रही है। सोशल मीडिया पर कांग्रेस के कई बड़े नेताओं ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। एमपी कांग्रेस ने सरकार पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया है कि इस माह भोपाल में- – पेट्रोल 10.00 रूपये प्रति लीटर – डीज़ल 10.42 रूपये प्रति लीटर महँगा हुआ है। शिवराज जी, “आपदा” में इतना बड़ा “अवसर”..?

कांग्रेस का प्रदेशव्यापी आंदोलन

लगातार बढ़ते दामों पर कांग्रेस ने शिवराज सरकार के खिलाफ आंंदोलन का ऐलान किया है।कांग्रेस 24 जून से पूरे प्रदेश में जिला/ शहर, ब्लाक मुख्यालयों पर आंदोलन करेगी। इस बात का ऐलान कांग्रेस राष्ट्रीय प्रवक्ता अभय दुबे ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान किया। प्रदेश कांगे्रस अध्यक्ष कमलनाथ ने (Kamalnath) जिला, ब्लाक अध्यक्षों को इसके निर्देश दिए हैं।कांग्रेस का कहना है कि प्रदेश में पेट्रोल 1 जून को 77.56 रूपये और डीजल 68.27 प्रति लीटर मिल रहा था। वहीं आज पेट्रोल 87.16 रूपये और डीजल 78.33 रूपये प्रति लीटर में मिल रहा है। 22 जून तक 16 दिन में पेट्रोल पर 8.30 रूपये और डीजल के दामों में 9.46 रूपये प्रतिलीटर की बढोत्तरी कर जनता के जेब पर डांका डाला जा रहा है। कांगे्रस इस बढोत्तरी के विरोध में पूरे प्रदेश में जिला मुख्यालयों पर प्रदर्शन कर केंद्र और प्रदेश सरकार से इस बढोत्तरी को वापस लिये जाने की मांग करेगी।

अन्य राज्यों का हाल

वही मंगलवार को लगातार 17 वें दिन पेट्रोल-डीजल की कीमतों में तेजी आई है। राजधानी दिल्ली में मंगलवार को पेट्रोल की कीमत में 20 पैसे की वृद्धि हुई है, जिसके बाद पेट्रोल 79.76 और डीजल 55 पैसे की बढ़त के साथ 79.40 रुपये प्रति लीटर हो गया है। राजस्थान की राजधानी जयपुर में मंगलवार को पेट्रोल बढ़त के साथ 86.85 रुपये प्रति लीटर पर और डीजल 80.21 रुपये प्रति लीटर पर मिल रहा है। वहीं, बिहार की राजधानी पटना में मंगलवार को पेट्रोल उछाल के साथ 82.79 रुपये प्रति लीटर पर और डीजल 76.53 रुपये प्रति लीटर पर बिक रहा है। इसके अलावा उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में मंगलवार को पेट्रोल 80.46 रुपये प्रति लीटर पर और डीजल 71.58 रुपये प्रति लीटर पर मिल रहा है।

हर दिन बदलती कीमत, 17 दिन में 8.50 मंहगा
बता दें कि प्रति दिन सुबह छह बजे पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बदलाव होता है। सुबह छह बजे से ही नए रेट लागू हो जाते हैं। पेट्रोल और डीजल के रेट में एक्साइज ड्यूटी, डीलर कमीशन और अन्य चीजें जोड़ने के बाद इसका दाम लगभग दोगुना हो जाता है।जानकारों का कहना है कि तेल मार्केटिंग कंपनियों ने पिछले 17 दिनों में पेट्रोल की कीमतों में लगभग 8.50 रुपये का इजाफा किया है। वहीं डीजल पिछले 17 दिनों में 9.77 रुपये महंगा हुआ है।