कोरोना से जंग: प्‍लाज्‍मा डोनेट करेंगे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने प्लाज्मा डोनेट (Plasma donate) करने का फैसला किया है| रविवार को कोरोना की समीक्षा बैठक के दौरान ​सीएम ने कहा, ”मेरी बॉडी में कोरोना के एंटीबॉडीज डेवलप हो गए होंगे, मैं प्लाज्मा डोनेट करूंगा’|

कोरोना पॉजिटिव आने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज चिरायु अस्पताल में भर्ती हुए थे और 5 अगस्त को उन्हें डिस्चार्ज किया गया था| अब उन्होंने अपना प्लास्मा डोनेट करने का फैसला किया है| कोरोना से ठीक हो चुके मरीजों के ब्लड प्लाज्मा से कोविड19 रोग से पीड़ित अन्य मरीजों का उपचार किया जा सकता है| इस दिशा में मुख्यमंत्री ने एक सराहनीय पहल करते हुए सभी के लिए एक उदाहरण पेश किया है|

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज वीडियो कान्फ्रेंस द्वारा कोरोना समीक्षा के दौरान संभागवार मृत्यु दर, उसके कारणों तथा बचाव की प्रभावी रणनीति पर विस्तार से विचार-विमर्श किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि कोरोना पर जीत से कम कुछ नहीं चाहिए। प्रदेश में कोरोना की मृत्यु दर को न्यूनतम करने के लिए शासन, प्रशासन, चिकित्सक, पैरामेडिकल स्टॉफ और जनसामान्य को साथ मिलकर काम करना होगा। कोरोना संभावित व्यक्तियों की जल्द पहचान तथा उन्हें तत्काल मेडिकल केयर उपलब्ध कराना, बचाव एवं उपचार का सर्वश्रेष्ठ उपाय है। इसके लिए प्रदेश में परीक्षण क्षमता बढ़ाना होगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेश में प्रतिदिन 20 हजार टेस्ट की क्षमता विकसित करने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने जागरूकता अभियान को विस्तार देने, होम आइसोलेशन को प्रोत्साहित करने और प्लाज्मा थैरेपी को बढ़ावा देने की आवश्यकता बतायी। उन्होंने कहा कि उनकी बॉडी में कोरोना के एंटीवायरस डेवलेप हो गए होंगे अत: वह शीघ्र प्लाज्मा डोनेट करेंगे। वीडियो कान्फ्रेंस में सभी संभागायुक्त सहित मेडिकल कॉलेज के डीन, चिकित्सा विशेषज्ञों ने भाग लिया।