अयोध्या फैसले से पहले पुलिस अलर्ट, सोशल मीडिया, सहित होटलों-लॉजों पर पैनी नजर

भोपाल। आगामी दिनों में अयोध्या का फैसला आने वाला है। जिसे देखते हुए पुलिस ने शहर में शांति व्यवस्था को बनाए रखने के लिए अतिरिक्त चौकसी बरतना शुरू कर दिया है। लगातार थाना स्तरों पर शांति समितियों के सदस्यों की मीटिंग ली जा रही है। फैसला जो भी आए शहर में गंगा जमुनी तहजीब को कायम रखने की अपील पुलिस अधिकारियों द्वारा की जा रही है। रिजर्व फोर्स की विभिन्न थाना क्षेत्रों तैनाती कर दी गई है। सोशल साइट्स पर भड़काउ पोस्ट करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। शहर में मौजूद होटल, लॉज,रैन बसेरों और आउटरों में बने फार्म हाउसों की सर्चिंग तेज कर दी गई है। राजधानी में मौजूद बाहरी व्यक्तियों पर भी पुलिस की पैनी नजरें हैं। पुलिस के आला अधिकारियों का दावा है कि शहर में हर हाल में शांति व्यवस्था को कायम रखा जाएगा। किसी भी प्रकार से भोपाल के महौल को खराब करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा।

जानकारी के अनुसार आगामी 11 से 17 नवंबर के बीच अयोध्या का फैसला सुप्रीम कोर्ट द्वारा आना संभावित है। इस फैसले के बाद कुछ अस्माजिक तत्व शहर के महौल को खराब कर सकते हैं ऐसा पुलिस का अनुमान है। जिसके चलते पुलिस मुख्य रेलवे स्टेशन सहित, हबीबगंज,बैरागढ़ और मिसरोद स्टेशन पर अतिरिक्त चौकसी बरतना शुरू कर दिया गया है। संदेहियों की कड़ी तलाशी ली जा रही है। शहर की सीमाओं पर पुलिस बल की अतिरिक्त तैनाती कर दी गई है। पूरी चैकिंग के बाद ही किसी बाहरी वाहन को राजधानी की सीमाओं में प्रवेश दिया जा रहा है। भोपाल में रहने वाले किराएदारों के वेरिफिकेशन कराए जा रहे हैं। होटलों,लॉजों और रैन बसेरों में ठहरे बाहरी व्यक्तियों की बारीकी से तजदीक की जा रही है। उनकी आईडी चेक करने के साथ ही एक डाटा तैयार किया जा रहा है। इधर, शहर के जिम्मेदार लगातार पुलिस को शांति व्यवस्था कायम रखने में सहयोग का भरोसा दिला रहे हैं। सभी धर्म गुरू अपनी-अपनी ओर से फैसले का स्वागत तथा शांति बनाए रखने की अपील जारी कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here