पुलिस आरक्षक ने एस पी और महिला डीएसपी पर कमरें में बंद कर पीटने के लगाए गंभीर आरोप, शिकायत लेकर थाने पहुँचा कांस्टेबल

भोपाल,डेस्क रिपोर्ट। भोपाल में पुलिस विभाग का सनसनीखेज मामला सामनें आया है। हेडक्वार्टर में पदस्थ कांस्टेबल ने अपने उच्च अधिकारियों पर कमरे में बंद कर मारपीट करने का आरोप लगाया है। कांस्टेबल भूपेंद्र सिंह का आरोप है कि उसे एसपी हेडक्वार्टर राम जी श्रीवास्तव और एक महिला डीएसपी हेडक्वार्टर पर यह आरोप लगाए है। कांस्टेबल का आरोप है कि दोनों ने मिल कर उसे कमरे में बंद कर पीटा।

“आओ संवारे दतिया” कार्यक्रम में शामिल हुए गृह मंत्री, शहर को साफ-सुथरा बनाने के लिए जनता से की अपील

आरक्षक भूपेंद्र की माने तो महिला डीएसपी का वह लंबे वक्त तक ड्राइवर था, कुछ दिनों पहले अचानक महिला डीएसपी ने आरक्षक भूपेंद्र का मोबाइल किसी बात को लेकर रख लिया था। भूपेंद्र ने जब अपना फोन वापस मांगा तो महिला डीएसपी ने उसका फ़ोन वापस नही दिया। वही जब इस बात की शिकायत लेकर जब आरक्षक भूपेंद्र एसपी हेडक्वार्टर के पास पहुंचा तो शिकायत किये जाने से नाराज महिला डीएसपी और एसपी ने कांस्टेबल को पीटा।

Video Viral : महिला ट्रैफिक पुलिस की ऐसी हरकत पर मचा बवाल, हुई लाइन अटैच, देखें वीडियो

घटना 5 दिन पहले की बताई जा रही है। कांस्टेबल के पूरे शरीर पर चोट के निशान है। आरोप लगाने वाले कांस्टेबल का कहना है कि मारने के बाद दोनो अधिकारियों ने उसे धमकी दी थी कि अगर किसी को बताया या शिकवा शिकायत की तो सस्पेंड कर तुझको जेल पहुँचा देंगे, साथ ही भूपेंद्र का कहना है कि उसे इतनी बुरी तरह मारा गया 3 दिन तक चलते फिरते भी नही बन पा रहा था। मामला सामनें आने के बाद आरक्षक ड्राइवर के साथ मारपीट के मामले में ड्राइवर ने  हबीबगंज थाने में शिकायत की है, उसने पुलिस को मामला दर्ज करने को लेकर आवेदन दिया है।

सास-ससुर और बहू की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या, डायन का आरोप लगा भतीजे ने ही दिया घटना को अंजाम

भूपेंद्र का आरोप है कि हबीबगंज थाना क्षेत्र के चार इमली स्थित एसपी हेडक्वार्टर रामजी श्रीवास्तव के बंगले पर उसके साथ मारपीट हुई थी।फिलहाल इस पूरे मामलें में जिन अधिकारियों पर आरोप लगाया जा रहा है उनका अभी तक कोई बयान सामनें नही आया है। वही हबीबगंज पुलिस ने भूपेंद्र सिंह का आवेदन ले लिया है देखना होगा कि आरक्षक की शिकायत पर अधिकारियों के खिलाफ किस तरह से मामला दर्ज किया जाता है, और मामलें में किस तरह जांच की जाएगी।