अपने ही थाने में पदस्थ आरक्षक की गिरफ्तारी नहीं कर रही पुलिस

भोपाल। निशातपुरा स्थित संजीव नगर पुलिस कॉलोनी में रहने वाले आरक्षक मुन्नालाल अहिरवार को पुलिस पत्नी से मारपीट के मामले में गिरफ्तार नहीं कर रही है। मुन्नालाल स्वयं ही निशातपुरा थाने में पदस्थ है। वहीं उसकी पत्नी गीता सिसोदिया ने गंभीर आरोप लगाते हुए बताया कि पुलिस आरोपी पति को बचाने के पुरजोर कोशिश कर रही है। केस में खात्मा काटने की तैयारी की जा रही है। गीता का कहना है कि पहले उन्होंने प्रकरण दर्ज कराया था। इसके बाद वे भाई के साथ मायके चली गई थी। बाद में आरोपी पति मुन्नालाल ने उनके खिलाफ मारपीट का प्रकरण दर्ज करा दिया। जिसमें लिखा घटनाक्रम पूरी तरह से झूठा है। जिस समय की घटना एफआईआर में बताई गई है, तब वह कोर्ट में थीं। मुन्नालाल पर पहले उन्होंने एफआईआर दर्ज कराई थी। जिसे दर्ज करने में पुलिस ने घंटो लगाए और आना-कानी करती रही थी। निशातपुरा पुलिस के इस कारनामे की शिकायत गीता ने आज डीजीपी से लिखित आवेदन देकर की है।