राजधानी में पुलिस की चौकस सुरक्षा व्यवस्था, सोशल मीडिया पर कड़ी नजर

432

भोपाल। अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट से आज आए फैसले के मद्देनजर पहले से लागू धारा 144 के आदेश को और कड़ा कर दिया गया है। इसके तहत भोपाल जिले में पांच या पांच से ज्यादा लोगों के इकठ्ठा होने पर पूरी तरह रोक है। आतिशबाजी और पटाखे फोड़ने पर पूरी तरह रोक है। शहर में आज स्कूल-कॉलेज बंद हैं, हालांकि कई दफ्तर खुलें हुए हैं। चप्पे-चप्पे पर पुलिस है। अति संवेदनशील इलाकों में अतिरिक्त बल की तैनाती की गई है। आरएएफ,एसएएफ सहित अन्य फोर्स भी राजधानी की चौकसी में तैनात हैं। सभी धर्मों के गुरु अपने-अपने समाज के लोगों से देर रात से आज सुबह तक शांति बनाए रखने की अपील करने में जुटे हैं। वहीं भोपाल की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेने के लिए कलेक्टर तरूण पिथौड़े,डीआईजी इरशाद वली और नगर निगम कमिशनर विजय दत्ता देर रात तक विभिन्न क्षेत्रों में निरिक्षण करते रहे। आज सुबह से यह तीनों आधिकारी राजधानी में अमन कायम रखने के लिए फील्ड पर एहम आदेश और निर्देश देने में जुटे हैं।

जानकारी के अनुसार कानून व्यवस्था और भोपाल शहर की संवेदनशीलता को ध्यान में रखते हुए संपूर्ण शहर में विशेष सुरक्षा व्यवस्था के लिए व्यापक स्तर पर नाकाबंदी और वाहन चैकिंग की जा रही है। नाकाबंदी में जिला बल, एसएएफ, होमगार्ड, एसपीओ समेत कुल 4615 अधिकारी व कर्मचारी शामिल हैं। एडीजी-आईजी भोपाल जोन आदर्श कटियार और डीआईजी इरशाद वली के निर्देशानुसार संपूर्ण जिले में विभिन्न स्थानों पर नाकाबंदी कर संदिग्ध लोगों व वाहनों की चैकिंग की जा रही है। बताया जा रहा है कि शहर की बाहरी सुरक्षा व्यवस्था में 155,मध्य सुरक्षा व्यवस्था में 485,आंतरिक सुरक्षा व्यवस्था में 2356, मुख्य पिकेट्स व्यवस्था 680,आंतरिक पेट्रोलिंग व्यवस्था में 651,रेलवे स्टेशन व बस स्टेंड व्यवस्था में 62, गिरफ्तारी पार्टी में 120,नगर नियंत्रण कक्ष व रिजर्व व्यवस्था 108,नाकाबंदी व्यवस्था में थाना-1051,पुलिस कंट्रोल रूम आम्र्स फोर्स 1241,पुलिस कंट्रोल रूम केन पार्टी में 404, पुलिस कंट्रोल रूम महिला बल-63,सपीओ-1670,नगर सैनिक 186 की तैनाती शहर की तंग गलियों से लेकर मुख्य मार्ग और सीमाओं पर तैनाती की गई है।

– तनाव की स्थिति में तत्काल पुलिस को सूचित करें

कहीं भी कोई तनाव की स्थिति निमिज़्त होती है तो उसकी सूचना तत्काल पुलिस-प्रशासन को दें। इसके अलावा दूध, ईंधन, पब्लिक ट्रांसपोर्टज़् और एंबुलेंस जैसी सभी तमाम सेवाएं भी आम दिनों की तरह ही जारी हैं। कलेक्टर ने एक अन्य आदेश में सभी पेट्रोल-डीजल पंप संचालकों को निर्देश दिए हैं कि खुली बॉटल या अन्य किसी बर्तन में पेट्रोल-डीजल न दें। इसके अलावा सभी पेट्रोल पंप न्यूनतम 2000 लीटर पेट्रोल और 3000 लीटर डीजल का रिजर्व स्टॉक सुनिश्चित करें।

– 140 की-वर्ड के जरिए सोशल मीडिया के हर मैसेज पर नजर

भोपाल पुलिस की वाट्सएप मॉनिटरिंग सेल सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक संदेश प्रसारित करने वालों पर नजर रखे हुए है। एएसपी संदेश जैन ने बताया कि बीते एक महीने के भीतर 19 लोगों के खिलाफ केस दर्ज करवाए हैं, जिन्होंने आपत्तिजनक संदेश प्रसारित किए हैं। पुलिस ने 140 ऐसे की-वर्ड तैयार किए हैं, जिन पर नजर रखी जा रही है।

– बाजारों में पसरा सन्नाटा

शहर के तमाम बाजारों में आज दोपहर तक पूरी तरह से सन्नाटा पसरा रहा। चौक बाजार,न्यू मार्केट, आदी बाजारों में पूरी तरह से दुकाने बंद रही। पुलिस के गश्ती वाहन लगातार पेट्रोलिंग करते रहे। अति संवेदन शील इलाकों में भीड़ एकत्र होने पर पुलिस ने लाउड स्पीकर से अनाउंस कर लोगों को घरों में रहने की हिदायत दी। कहीं लोगों के हुजूम एकत्र नहीं होने लिए गए।

– इनका कहना है

सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का सम्मान करें। कानून व्यवस्था बनाए रखने में पुलिस-प्रशासन का साथ दें। आपत्तिजनक गतिविधि नजर आती है तो तत्काल नजदीकी थाने या कंट्रोल रूम में सूचना दें।

 इरशाद वली, डीआईजी भोपाल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here