MP के इस गांव में 3 दिन से बत्ती गुल, अब तक सुध लेने नही पहुंचा कोई, BJP ने सरकार को घेरा

power-cut-in-sehore-madhy-pradesh

भोपाल।

मध्यप्रदेश में अघोषित बिजली कटौती का सिलसिला जारी है। सीएम के लाख निर्देश के बावजूद हालत जस के तस बने हुए है। लगातार बिजली कटौती से अब जनता में भी आक्रोश बढ़ने लगा है। लोग सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन कर रहे है, नेताओं का घेराव किया जा रहा है, बिजली ऑफिस में तोड़फोड़ की घटनाएं सामने आ रही है । ऐसे में मध्यप्रदेश के सीहोर जिले के ग्राम लीला खाड़ी में तो हालत और भी बेकार हो चले है, यहां पिछले तीन दिनों से बिजली नही है, लोग अंधकार मे जीवन जीने को मजबूर है। हैरानी की बात तो ये है कि शिकायत के बावजूद अब कोई अधिकारी या नेता वहां नही पहुंचा है।इसी लापरवाही को लेकर बीजेपी ने सरकार को आड़े हाथों लिया है और जमकर हमला बोला है।

भाजपा नेता डॉ हितेष वाजपेयी ने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि आज तीसरा दिन है ग्राम: लीला खाड़ी, जिला सीहोर में बिजली नहीं है। चारों तरफ दिन मे और रात मे भी अंधकार है। सामान्य आदमी के मोबाइल चार्जिंग के लिए भी उसके पास कोई व्यवस्था नहीं है। गांव के लोग हैं तो स्वाभाविक है जनप्रतिनिधि भी सब गायब हैं। सरकार तो राहुल गांधी के पीछे भरतनाट्यम कर रही है “अध्यक्ष बन जाओ”। बिजली विभाग के कर्मचारी / अधिकारी कान में रुई डालकर भोपाल में बढ़िया ऐसी चला कर सो रहे हैं ।

वाजपेई यही नही रुके उन्होंने आगे कहा कि शायद ही ग्रामीण भारत को लेकर कारपोरेट नेता कमलनाथ के मन में कोई संवेदना बची है। यही कारण है कि लगातार ट्वीट करने के पश्चात भी कलेक्टर सीहोर या फिर भोपाल का प्रशासन किसी भी रूप में इन गांव में रहने वाले किसानों की तरफ ध्यान देने को तैयार नहीं है। किसानों के हित की बडीा बडी बातें केवल टीवी पर बैठकर करने वाले लोग आज 3 दिन से बिजली ना होने पर भी मौन है। बहुत दुखद है क्योकि शिवराज जी के जाने के पश्चात पहली बार यह स्थिति हमारे गांव में बनी है जो कि बहुत ही निंदनीय है, दुखद है, और कमलनाथ जी के लिए तो लानत भरी है।