अफसरों पर भड़के ऊर्जा मंत्री, बोले-फोन कर मेरी हालत खराब करते लोग, यह नहीं चलेगा

power-minister-priyavrat-singh-scolds-officers-for-power-cut-bhopal

भोपाल।

बिजली कटौती को लेकर सरकार चौतरफा घिरी हुई है। सीएम के निर्देश और सख्त कार्रवाई के बावजूद हालात सुधरने का नाम नही ले रहे है। लगातार अधिकारियों की लापरवाही सामने आ रही है।सरकार के पास लगातार शिकायतें पहुंचे रही। जनता मंत्रियों-विधायकों को फोन कर रही है, जिसके कारण अब मंत्री भी झल्लाने लगे। शुक्रवार को ऐसा ही नजारा बिजली सप्लाई व मेंटेनेंस व्यवस्था की समीक्षा बैठक में देखने को मिला। जहां ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह ने बिजली कंपनी के अफसरों पर भडक उठे और कहा कि आप लोग बिजली बंद कर देते हो और लोग फोन करके मेरी हालत खराब करते हैं।

बताया जा रहा है कि हाल ही में होशंगाबाद के बनखेड़ी में बिजली कटौती हुई थी। तब पारा 43 से 45 डिग्री के आसपास था। गर्मी से बच्चे, बुजुर्ग और अन्य लोग इतने परेशान हो गए थे कि कुछ लोगों ने बिजली बंद को लेकर ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह को ही फोन कर दिया था। उन लोगों का कहना था कि अफसर कटौती कर रहे हैं। यह बात मंत्री को याद थी।जिसको लेकर मंत्री अफसरों पर बरस पड़े। मंत्री जी यही नही रुके और आगे कहा कि ये क्या तरीका है, आप संभाल नहीं पा रहे हो। आगे से बिजली बंद करने से पहले स्थानीय लोगों को जानकारी दें और उन्हें भरोसे में लेकर ही बिजली बंद करना, ताकि वे मानसिक रूप से तैयार रहें। आप लोग ठीक से व्यवस्था नहीं कर पाते और फोन मेरे पास आते हैं, यह नहीं चलेगा।

ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह ने कहा अफसरों को सख़्त हिदायत है कि वो लापरवाही ना बरतें। उन्होंने बताया कि एलटी लाइन और डीडी आर लाइन का शिवराज सरकार के दौरान काफी समय से रखरखाव नहीं हुआ है। अफसरों को समय पर लाइन का मेंटेनेंस करने के लिए कहा गया हैय़ उनसे कहा गया है कि जिस भी इलाके में मरम्मत काम किया जाए वहां बिना प्लान बनाए शट डाउन ना किया जाए।अफसरों से कहा गया है कि जिस भी इलाके में ट्रिपिंग हो रही है,उसका पूरा रिकॉर्ड रखें। जनता तक सही जानकारी पहुंचाएं ताकि भ्रम या अफवाह ना फैलेय़ इसकी जानकारी एप पर भी डाली जाए।एमपी में कहीं भी अघोषित बिजली कटौती नहीं की जा रही है।