10 फीसदी तक बढ़ सकती हैं बिजली दर, नियामक आयोग की सुनवाई आज

Power-tariff-may-increase-by-10-percent

भोपाल। प्रदेश में बिजली की दरें बढ़ाने के लिए बिजली कंपनियों के प्रस्ताव पर विद्युम नियामक आयोग सुनवाई कर रहा है। पूर्व एवं पश्चिम क्षेत्र की बिजली कंपनियों के प्रस्ताव पर सुनवाई के बाद आयोग आज राजधानी भोपाल में मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रस्ताव पर सुनवाई करने जा रहा है। बिजली कंपनियों ने 12 फीसदी तक बिजली दर बढ़ाने का प्रस्ताव भेजा है।

विद्युत नियामक आयोग 11 बजे से कम्पनी के दीक्षा भवन निष्ठा परिसर बिजली नगर गोविन्दपुरा में सुनवाई चल रही है। कोई भी व्यक्ति सुनवाई में उपस्थित होकर अपनी आपत्तियाँ अथवा सुझाव प्रस्तुत कर सकता है। कंपनियों ने बिजली दर बढ़ाने का प्रस्ताव लोकसभा चुनाव से पहले भेजा था, लेकिन चुनाव के चलते प्रस्ताव पर फैसला नहीं हो सका। अब चूंकि चुनाव बीत गए हैं, इसलिए बिजली कंपनियों केेे प्रस्ताव पर सहमति बन सकती है।  

कंपनियां के प्रस्ताव पर नियामक आयोग के समक्ष 90 से अधिक याचिकाएं लगाई गई हैं। कंपनियों ने 2019-20 में वितरण हानियों और बिजली की बढ़ती मांग का हवाला देते हुए दरों को बढ़ाए जाने की जरूरत बताई है। तीनों कंपनियों ने इस चालू वित्त वर्ष के लिए 38 हजार 163 करोड़ रुपए की राजस्व आवश्यकता का दावा प्रस्तुत किया है। कंपनियों का तर्क है कि वितरण कंपनियों के लिए यह संभव नहीं होगा कि विक्रय बढ़ाए बिना अपनी संचालन व्यवस्था बनाए रखे।